महाशक्ति बनने की ओर अग्रसर हैं भारत – KhabarTak

महाशक्ति बनने की ओर अग्रसर हैं भारत

पेइचिंग : भारत का धुर विरोधी देश चीन को अब भारत में बड़ी संभावनाएं नजर आ रही हैं। मोदी सरकार द्वारा 1 जुलाई से लागू किए गए वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) की चीन में चहुंओर तारीफ हो रही है।

अब चीन के सरकारी अखबार ग्लोबल टाइम्स ने भारत की अर्थव्यवस्था पर लिखा है। अपने एक लेख में भारत द्वारा किए गए टैक्स सुधार की प्रशंसा करते हुए अखबार ने लिखा है कि बड़ी मात्रा में हो रहे विदेशी निवेश के कारण वैश्विक महाशक्ति बनने के भारत के सपने को काफी बल मिलेगा।

चीनी मीडिया का कहना है कि विदेशी निर्माता बढ़-चढ़कर भारत में निवेश कर रहे हैं और भारत द्वारा किए जा रहे सुधारों व प्रयासों के कारण निवेशकों को यहां अपना भविष्य सुरक्षित दिख रहा है।

ग्लोबल टाइम्स ने अपनी सरकार के सलाह दी है कि वह भारत के विकास और तरक्की को देखकर शांत रहे। साथ ही, भारत से प्रतिस्पर्धा करना है तो चीन को विकास की ज्यादा प्रभावी रणनीति तैयार करे।

लेख में यह भी कहा गया है कि भारत में आज जैसा आर्थिक विकास हो रहा है, वह करीब दो दशक पहले चीन में हो रहा था। अखबार का कहना है कि विदेशी निवेश के इस मॉडल पर चलकर चीन को कामयाबी मिली और अब चूंकि भारत भी इसी राह पर आगे बढ़ रहा है, इसीलिए उसकी सफलता भी करीब-करीब पक्की लग रही है।
इसलिए भारत जा रही दुनियाभर की कंपनियां

अखबार ने लिखा है कि जीएसटी सुधारों और इससे होने वाले आर्थिक फायदों को लेकर भले ही संशय की स्थिति दिख रही हो, लेकिन विदेशी कंपनियां भारत में अपने भविष्य को लेकर आश्वस्त नजर आ रही हैं।

इसमें आगे कहा गया है, जीएसटी के अंतर्गत भारत ने आयात किए जाने वाले विदेशी स्मार्टफोन्स और कुछ अन्य इलेक्ट्रॉनिक उत्पादों पर 10 फीसदी ड्यूटी लगाई है।

इसके कारण अंतरराष्ट्रीय फोन निर्माता भारत में प्लांट्स लगाने की योजना पर तेजी से काम कर रहे हैं। ताइवान की कंपनी फॉक्सकॉन भारत में अपने कारखाने शुरू करने के लिए लगभग 32 खरब रुपये का निवेश करने की योजना बना रही है।

जून में सैमसंग ने घोषणा की थी कि वह भारत में अपने उत्पादन की क्षमता को बढ़ाने के लिए करीब 40 अरब रुपये का निवेश करेगा। इसके बाद सैमसंग के स्मार्टफोन्स उत्पादन की मासिक संख्या बढ़कर 10 लाख होने का अनुमान है।

चीन की मोबाइल कंपनियां भी भारत में जमकर निवेश कर रही हैं। ओपो, वीवो, लेनोवो, शाओमी ने भी भारत में अपने प्लांट्स शुरू किए हैं और इसकी वजह से भारत में स्मार्टफोन उत्पादन के बाजार में प्रतिस्पर्धा काफी बढ़ गई है।

Via News India Live

Open Chat
1
Close chat
Hello! Thanks for visiting us. Please press Start button to chat with our support :)

Start