चीन में भ्रष्टाचार विरोधी अभियान: एक साल में 1 हजार भगोड़ों को लाया गया वापस, अरबों रुपये वसूले

7

International

oi-Amit J

|

Updated: Friday, January 11, 2019, 19:46 [IST]

बीजिंग। चीन में शी जिनपिंग की सरकार का भ्रष्टाचार के खिलाफ मुहिम जारी है। चीन की सरकार पिछले एक साल में 1,000 से भी ज्यादा भगोड़ो को वापस लाने में कामयाब हुई है और उनसे 519 मिलियन डॉलर (36,56,87,40,000 रुपये) भी वसूले हैं। शुक्रवार को चीन की सरकार ने इस रिपोर्ट का जिक्र करते हुए भ्रष्टाचार के खिलाफ शी जिनपिंग की इस पहल को शानदार जीत माना है।

चीन में 1 हजार भगोड़ों को लाया गया वापस, अरबों रुपये वसूले

चीन की एंटी करप्शन वॉचडॉग ने कहा कि जिन 1,335 भगोड़ों को वापस चीन लाया गया है, उनमें से पार्टी के 307 सदस्य और सरकारी कर्मचारी शामिल हैं। यहां तक इंटरपोल ने उन 5 भगोड़ों को भी सौंपा है, जो टॉप 100 की मोस्ट वांटेड की लिस्ट में शामिल थे।

चीन की सरकार ने बैंक ऑफ चाइना (बीओसी) के पूर्व मैनेजर शू चाउफान को भी वापस अपने देश में लाया है, जो 17 साल पहले अमेरिका भाग गए थे। बीओसी के इस पूर्व मैनेजर पर 485 मिलियन डॉलर की धांधली करने का आरोप था।

चीन ने कहा कि उनके चार साल से चल रहे इस अभियान में अब तक 5,000 भगोड़ों को वापस स्वदेश लाया गया है, जो क्राइम और करप्शन जैसे आरोप झेल रहे थे। शी ने जब चीन की सत्ता संभाली थी, तब उन्होंने ‘स्काई नेट’ नाम से करप्शन के खिलाफ अभियान शुरू किया था, लेकिन पिछले चार साल में यह अभियान में कई बड़े चीनी बिजनेसमैन और नेता नपे हैं।

करप्शन के खिलाफ शी जिनपिंग द्वारा चलाए इस अभियान ने  उन्हें बहुत लोकप्रिय बना दिया है। चीन में माओ के बाद शी जिनपिंग सबसे ज्यादा लोकप्रिय नेता हैं, जिन्होंने पिछले साल आजीवन राष्ट्रपति के रूप में शपथ ली थी।

जीवनसंगी की तलाश है? भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें – निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!