सीरीज जीतकर कोहली ने सपना सच किया

11

  • भारतीय क्रिकेट में नया आयाम जोड़ेगी यह सीरीज जीत 
  • पुजारा ने जिम्मेदारी और धैर्य के साथ बल्लेबाजी की

Dainik Bhaskar

Jan 08, 2019, 08:40 AM IST

मैं शब्दों में बयान नहीं कर सकता हूं कि विराट और उनकी टीम ने ऑस्ट्रेलिया में जो इतिहास रचा है उस पर मुझे कितना अभिमान है। ऑस्ट्रेलिया में विजेता टीम का हिस्सा बनना मेरा सपना था। मुझे बेहद खुशी है कि मैं अपने सपने को साकार होते देख रहा हूं। भारतीय टीम में सभी खिलाड़ियों का प्रदर्शन अद्भुत रहा। उनका खेल तारीफ के काबिल है।

पुजारा का प्रदर्शन नए खिलाड़ियों के लिए प्रेरणादायी

चौथे और आखिरी टेस्ट में भारत ने अपनी स्थिति मजबूत कर ली थी। खासतौर पर चेतेश्वर पुजारा ने पूरी जिम्मेदारी और धैर्य के साथ बल्लेबाजी की। उसने विपक्षी गेंदबाजों की हर गेंद का बिना डरे डटकर सामना किया जो नए खिलाड़ियों के लिए प्रेरणादायी है। 

मयंक का प्रदर्शन भी शानदार

पुजारा ने ढेर सारे रन बनाए और लंबे समय तक क्रीज पर डटे रहे। विराट और अजिंक्य रहाणे दोनों ने ही निर्णायक क्षणों में अहम योगदान दिया। मयंक अग्रवाल का प्रदर्शन भी अच्छा रहा। इधर गेंदबाजी में जसप्रीत बुमराह और उसके साथियों ने शानदार गेंदबाजी की। 

बुमराह की अगुआई भारतीय गेंदबाजों ने अच्छी गेंदबाजी की

बुमराह की गेंदबाजी लगातार आक्रामक रही। रविंद्र जडेजा और कुलदीप यादव ने भी अच्छी गेंदबाजी की। सभी खिलाड़ियों के मिले-जुले योगदान के बल पर भारत ने ऑस्ट्रेलिया में 71 साल बाद टेस्ट सीरीज जीत कर इतिहास रच दिया। यह सीरीज की जीत भारतीय क्रिकेट में नया आयाम जोड़ेगी। यह लगातार युवा खिलाड़ियों को विदेशी मैदानों में बेहतरीन खेलने की प्रेरणा देती रहेगी। विराट की यह टीम सचमुच विलक्षण है।

<!–

–Advertisement–

googletag.cmd.push(function(){googletag.display(‘WAP_300_250_MID’);});

–>