Hajipur के वैशाली में मिला अधजला शव जिसे कुत्ते नोंच रहे थे- लोगों ने कहा Corona Positive व्यक्ति का है

Twitter पे हमें फॉलो करे

हाजीपुर के अंतर्गत आने वाले वैशाली जिले में एक आधी जली लाश को कुत्ते और कौवे नोंच के खा रहे थे | यह घटना इलाके के कोनहारा घाट की है और इसकी खबर लगते ही प्रशासन में अफरा तफरी का माहौल बन गया | स्थानीय निवासियों ने प्रशासन को आरोपी बनाया और कहा कि जो शव वहां पाया गया वह एक कोरोना मरीज़ का है और गुरुवार के दिन इसका अंतिम संस्कार हुआ है | उनके अनुसार यह शव आधा ही जल पाया था और इसको यहाँ लाकर छोड़ दिया गया | जैसे ही बात फैली उसके उपरांत लोगों का मजमा लग गया और हंगामा शुरू हो गया |

कुंती देवी जो कोनहारा घाट पर दुकान का संचालन करती हैं उन्होंने बताया कि शव को इसी स्थान पर जलाया था परंतु अंतिम संस्कार पूरा हो नहीं पाया | इसकी वजह से ही कुत्ते एवं कौवे उसे खाने के लिए आ गए | लोगों के द्वारा प्रशासन को सूचना प्रदान की गयी इसके उपरांत सदर स्थित अस्पताल से स्वास्थ्यकर्मी वहां आये और उसके बाद प्रशासन ने बताया कि यह लाश किसी भी कोरोना पॉजिटिव मरीज़ की नहीं है और लोगों को गलत बताया |

सिविल सर्जन के अनुसार किसी और शव के अवशेष मिले हैं-   

इन्द्रदेव रंजन (सिविल सर्जन) के अनुसार शव किसी और का है क्योंकि गुरुवार को पूर्ण तरीके से कोरोना पीड़ित के शव का अंतिम संस्कार संपन्न हो चुका था | और जिस शव को जानवर खा रहे थे वह उस मरीज़ का नहीं है | हालाँकि, स्थानीय लोगों के हंगामे के चलते उस शव के टुकड़ों को एकत्रित करके पूरा जला दिया गया है | परंतु लोगों द्वारा प्रशासन पर बातें छुपाने का इलज़ाम लगाया जा रहा है |

और पढ़े   Pooja Bhatt ने हथिनी को मारने का इलज़ाम लगाया हिन्दुओं पर और सच सामने आते ही हो गयीं चुप

ज्ञात हो कि 2 दिन पूर्व एक प्रवासी श्रमिक ने क्वारंटाइन सेंटर में ख़ुदकुशी कर ली थी | वह श्रमिक पटेढ़ी बेलसर का निवासी था और उसे राजकीय अंबेडकर विद्यालय में क्वारंटाइन करके रखा गया था | वह नॉएडा से इस स्थान पर पहुंचा था और उसकी मृत्यु के उपरांत पता चाल कि वह कोरोना से पीड़ित था | प्रशासन ने अपनी निगरानी में उसका अंतिम संस्कार करवाया था |

हमरा सहयोग करे, कुछ दान करे , ताकी हम सचाई आपके सामने लाते रहे , आप हमरी न्यूज़ शेयर करके भी हमरा सहयोग कर सकते
RELATED ARTICLES