जागरूकता में कमी
आजकल शुद्ध और अशुद्ध चीजों को पहचान पाना मुश्किल है। लोग जागरूकता में कमी के कारण इस ओर ध्यान नहीं देते हैं। खाद्य पदार्थों में मिलावट आम हो गई है। यदि थोड़ी सी सावधानी बरती जाए तो आसानी से मिलावट को पहचाना जा सकता है।
ऐसे जानें शुद्धता
पानी में शहद को डालने पर यदि वह तल पर बैठ जाता है तो असली है। घुलने लगता है तो मिलावटी है। सफेद कपड़े पर शहद डाल दें, फिर थोड़ी देर बाद इसको धो दें। असली शहद से कपड़े पर निशान या चिकनाहट नहीं होगी। एक लकड़ी के टुकड़े को शहद में डूबो दें। फिर उसे जलाएं। लकड़ी पर लगा शहद जलने लगे तो शहद असली है। घी में मिलावट करने के लिए वनस्पति घी, बटर, एसेंस, आलू का स्टार्च मिलाते हैं। एक चम्मच घी में चार पांच बूंदें आयोडीन की मिलाएं, यदि एक मिनट के अंदर रंग नीला हो जाए तो घी में आलू मिला हुआ है। एक चम्मच घी में हाइड्रोक्लोरिक एसिड और एक चुटकी चीनी मिलाएं। यदि घी का रंग गुलाबी हो जाए तो इसमें वनस्पति मिला हुआ है।
ये मार्क देखें: खाद्य चीजें खुली न लें। साथ ही इन पर आइएसआइ व एग्मार्क का निशान देखकर ही खरीदें।

पंकज कुमार, चीफ फूड एनालिस्ट, (मिलावट की जांच के विशेषज्ञ)