मियादी बुखार भी कहते हैं
टायफॉइड दूषित खाने व पानी से होता है। इस रोग से पेट, लिवर, आंत आदि कमजोर हो जाते हैं। इसे मियादी बुखार भी कहते हैं। गंदे पानी, संक्रमित जूस या पेय के साथ साल्मोनेला बैक्टीरिया हमारे शरीर में प्रवेश कर जाता है। कमजोर हुए अंगों में रक्त व ऑक्सीजन की सप्लाई को सुचारू करने के लिए एक्यूप्रेशर पॉइंट का प्रयोग कर सकते हैं।

इनसे मिलेगा लाभ
पहला: हमारे शरीर में लिवर का अहम रोल होता है। इसका प्रेशर पॉइंट भी केवल दाएं तलवे और हथेली में होता है। इन प्रेशर पॉइंट पर सहन शक्ति के अनुसार प्रेशर देंगे तो टायफॉइड के बाद आई कमजोरी दूर होगी।
दूसरा: पेट को बुखार के बाद सही करने के लिए पैर व हाथ के सारे प्रेशर पॉइंट पर प्रेशर देंगे। इससे पेट की तकलीफ में आराम मिलेगा।
तीसरा: मरीज को अक्सर कब्ज की समस्या हो जाती है। इससे बचने के लिए एड़ी के पीछे प्र्रेशर पॉइंट पर दबाव देने से कब्ज में राहत मिलती है।

गड़बड़ाता है पाचन
टायफॉइड बैक्टीरिया से जनित रोग है जिसमें बुखार आता है और पाचन गड़बड़ाता है। ठीक होने के बाद भी मरीज को कमजोरी रहती है।
डॉ. निलोफर शाह, एक्यूप्रेशर एक्सपर्ट