मरीज के शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता का कमजोर होना कर्इ राेगाें का कारण बनती है। जिसकी वजह शरीर में पोषक तत्त्वों की कमी और डाइट में एंटीऑक्सीडेंट से युक्त चीजें शामिल न करना है। कई बार मौसम में बदलाव होने पर स्थिति और भी बिगड़ जाती है। खासकर इसके मामले बच्चों में अधिक देखे जाते हैं। आइए जानते हैं खानपान से जुड़ी वे बातें जो इम्युनिटी बढ़ाती हैं और पोषक तत्त्वों की पूर्ति भी करती हैं:-

कलरफुल सब्जियां
लाल पीली व हरी शिमला मिर्च, गाजर, आलू, फूलगोभी व पत्तागोभी में कलरफुल तत्त्व कैरोटीनायड्स पाए जाते हैं जो एंटीऑक्सीडेंट्स होते हैं। गाजर में विटामिन-ए, बी, सी, पोटेशियम और सोडियम पाया जाता है। इसके अलावा लाल शिमला मिर्च में बीटा कैरोटिन और विटामिन-सी अधिक पाया जाता है जो बच्चों की आंखों और त्वचा को हैल्दी बनाने का काम करते हैं।
यू देंं : रंगबिरंगी सब्जियों से सैंडविच, परांठा, रोल्स, कबाब, टिक्की तैयार कर बच्चों को दें। इनमें मौजूद बीटा कैरोटिन कोल्ड और फ्लू से भी बचाता है।

दही
एक शोधानुसार ऐसे बच्चे जो दही खाते हैं, उन्हें कान-गले का संक्रमण और सर्दी-जुकाम के होने की आशंका १९ फीसदी तक कम हो जाती है। रोजाना दही लेने से सूजन, संक्रमण और एलर्जी संबंधी समस्याएं भी दूर होती हैं।
यू देंं : बच्चे को सादा दही देने की बजाय शेक या स्मूदी के रूप में दें। दही में फल काटकर डालें और ड्राय फ्रूट्स भी मिलाकर दे सकती हैं।

सुपरफूड ब्रोकली
इसे सुपरफूड कहते हैं। इसमें एंटीऑक्सीडेंट्स, एंटीइंफ्लेमेट्री और डिटॉक्सिफाइंग कंपोनेंट होते हैं जो इम्युनिटी बढ़ाते हैं। इसमें विटामिन-ए, सी व ई अधिक होता है।
यू दें : पास्ता या सूप में डाल कर दे सकती हैं।

टमाटर
लाल टमाटर में खास एंटीऑक्सीडेंट्स पाए जाते हैं जो बच्चे में फ्री-रेडिकल से होने वाले नुकसान से बचाने के साथ इम्युनिटी बढ़ाते हैं।
यू देंं : टमाटर प्यूरी, सॉस, सूप और सलाद के रूप में दे सकती हैं।