05-07 दिन से ज्यादा खूब पानी पीने के बाद भी यूरिन पीला आए तो डॉक्टरी परामर्श जरूर लें।
यूरिन पीला आता है तो लोग अक्सर डर जाते हैं। पर ऐसा ठीक नहीं है। यूरिन पीला आ रहा है तो जितना हो सके ज्यादा पानी पीएं। पुरुषों में यह परेशानी अधिक होती है क्योंकि वे घर से बाहर रहते हैं तो पानी कम पीते हैं। यह प्रमुख कारण है पीले रंग का यूरिन आने का। जानें पीला यूरिन आने की अन्य वजहें-
ये हैं वजहें
यूरिन के रंग में होने वाले बदलाव के प्रमुख रूप से तीन कारण हैं।
पहला : यूरिन का रंग यदि गहरा पीला हो तो डिहाइड्रेशन (शरीर में पानी की कमी) मुख्य वजह है। पानी कम मात्रा में पीने से यूरिन में मौजूद रंग वाले पिग्मेंट इकट्ठे होते रहते हैं जो इसके रंग को गहरा कर देते हैं।
दूसरा : किसी इलाज के लिए यदि व्यक्ति कोई रंग छोडऩे वाली दवा लेता है जैसे मल्टीविटामिन आदि, तो यूरिन का रंग पीला हो जाता है।
तीसरा : यूरिन में कई बार थोड़ा बहुत ब्लड निकलने से भी इसका रंग पीला हो जाता है। इस दौरान जलन भी होती है।
रोगों की आशंका : आमतौर पर यूरिन के रंग में बदलाव पानी की कमी की ओर इशारा करता है। कई बार किडनी में स्टोन बनने, यूरिन में इंफेक्शन और यूरिनरी ब्लैडर कैंसर के कारण भी यूरिन का रंग गहरे पीले रंग का होता है।
सतर्क रहें
रंग में पीलापन आने के साथ ही यूरिन में जलन होने व रक्त आने के साथ ही बुखार भी रहे तो इसे नजरअंदाज न करें। तुरंत विशेषज्ञ से परामर्श लेनी चाहिए।
जांच व इलाज
इलाज से पहले कारण जानना जरूरी है। इसके लिए यूरिन टेस्ट और सोनोग्राफी करने के बाद उस आधार पर इलाज तय करते हैं। कई बार गंभीर बीमारियों की भी आशंका रहती है। इसलिए इसमें विशेषज्ञ डॉक्टर से ही इलाज करवाना चाहिए।
एक्सपर्ट : डॉ. सौरभ जैन, यूरोलॉजिस्ट, गांधी मेडिकल हॉस्पिटल, भोपाल

[MORE_ADVERTISE1]