बच्चों की इम्युनिटी कमजोर होने के कारण उन्हें पोषक तत्वों से युक्त दूध पीने की बेहद आवश्यकता होती है। छह माह तक तो उसे मां का दूध ही पिलाना चाहिए। इसके बाद कौनसा दूध उनके लिए सही है जानें विशेषज्ञ से-
कमजोर पाचनतंत्र
एक-डेढ़ साल की उम्र तक बच्चे का पाचनतंत्र कमजोर होता है। दूध की बात करें तो बकरी और गाय का दूध पचने में हल्का होता है इसलिए विशेषज्ञ छह माह के बाद शिशु को उसके शरीर की जरूरत के अनुसार इनका दूध पिलाने की सलाह देते हैं। छह माह बाद गाय और एक साल की उम्र के बाद शिशु को बकरी का दूध पिला सकते हैं। दो साल की उम्र के बाद शिशु को भैंस का दूध पिलाया जा सकता है।
ये हैं फायदे
शिशु के शरीर को कई पोषक तत्वों की जरूरत होती है। ऐसे में बकरी और गाय का दूध विटामिन डी, बी, बी१२, प्रोटीन, कैल्शियम, आयरन, मैग्नीशियम से भरपूर होता है। इनसे शिशुओं की इम्युनिटी तो मजबूत होती है। वजन बढ़ता है और हड्डियां व दांतों को ताकत मिलती है।
ध्यान रखें
बच्चे को कभी भी कच्चा या पानी मिला दूध नहीं पिलाना चाहिए। इससे दूध के पोषक तत्व कम हो जाते हैं।
एक्सपर्ट : डॉ. प्रेम प्रकाश व्यास, आयुर्वेद शिशु रोग विशेषज्ञ, जोधपुर

[MORE_ADVERTISE1]