लद्दाख में सड़क निर्माण के खिलाफ China, दोनों देशों ने Border पर Force बढ़ाई

Twitter पे हमें फॉलो करे

पिछले कुछ समय से सिक्किम के उत्तरी हिस्से में और लद्दाख में भारतीय और चीनी सैनिकों के मध्य तनातनी का माहौल बन गया है और ये लोग अक्सर सीमा पर आमने सामने आ जाते हैं | दोनों देशों ने सीमाओं पर सैन्य बल को बढ़ा दिया है | इस सूचना को सेना के ऊपरी अधिकारीयों ने साझा किया | उनके अनुसार LAC पर सड़क का निर्माण किया जा रहा है जिससे उनकी शक्ति बरक़रार रहे पर इस बात पर चीन को आपत्ति है |

सड़क निर्माण नहीं होने देना चाहता चीन-

चीन चाहता है कि भारत द्वारा सड़क का निर्माण ना हो और इसी कारणवश 5 मई को चीनी सैनिक भारतीय सीमा के अन्दर आ गए थे | भारतीय सेना ने उन्हें रोका और इस दौरान हाथापाई हो गयी थी | एक और साजिश के तहत चीन ने अपना हेलिकॉप्टर भी भारत के क्षेत्र में पहुंचा दिया था | इस सब को देखते हुए भारत ने सैन्य बल बढ़ा दिया है और इसको देखकर चीन बौखला गया है |

गालवां घटी में लगे टेंट-

भारत सड़क का निर्माण पैंगोंग त्सो लेक के उत्तरी इलाके में ना कर पाए इसलिए चीन ने गालवां घाटी (लद्दाख) के इलाकों में टेंट लगा दिए हैं | इसके अलावा सूत्रों से यह भी पता चला कि दौलत बेग ओल्डी, चुमार एवं डैमचौक के पास भी चीन ने अपने सैनिको की तैनाती की है और इनकी संख्या काफी अधिक है |

निर्माण से जुड़ी गतिविधियाँ प्रारंभ-

चीन के सैनिकों ने टेंट तो लगा ही लिए थे पर अब उसके साथ साथ वह निर्माण गतिविधियाँ भी प्रारंभ कर रहा है | इसके ऊपर भारतीय सेना ने भी जवाबी कार्यवाही की है जिसके तहत 14 कोर (उत्तरी कमान) में सैनिकों की तादाद बढ़ा दी गयी है | 14 कोर सियाचिन (पश्चिम लद्दाख) में पाकिस्तान के खिलाफ एवं लद्दाख के पूर्वी हिस्से में चीन के खिलाफ अपनी शक्ति लगातार बढ़ा रहा है और इससे चीन का पारा गरम हो रहा है |

और पढ़े   DRDO ने किया CORONA की दवा बनाने का दावा- Clinical Trial के बाद होगा साफ़

अक्साई चीन में उकसाया-

अक्साई चीन इलाका जो चीन के कब्ज़े में है वह उस इलाके से भारत को आंख दिखा रहा है और इस माह जब चीन को आगे बढ़ता देखा गया तो भारतीय सैनिक उनसे उलझ गए | हालाँकि, दोनों देशों के सैनिक इस घटना में घायल हुए परंतु चीन फिर भी नहीं माना और उसने एक हेलिकॉप्टर को भारतीय सीमा में भेज दिया जिसे वायु सेना ने खदेड़ के भगा दिया |

क्षेत्ररक्षण को बेहतर बनाएगी सड़क-

भारतीय सेना के एक अधिकारी द्वारा बताया गया कि चीन ने LAC के पास अपना बुनियादी ढांचा काफी शक्तिशाली कर लिया है | इसलिए अगर सड़क निर्माण किया जाये तो क्षेत्ररक्षण काफी अच्छा हो जाएगा | भारतीय सेना ने साफ़ कहा अगर चीन सड़क बनाएगा तो हम भी बनायेंगे क्यूंकि यह हमारा क्षेत्र है और चीन को अपने क्षेत्र से मतलब रखना चाहिए | पूर्ण कोशिश यही हो रही है कि चीन की लद्दाख में घुसने की साजिश को नाकामयाब किया जाये |

भारतीय सेना के जवाब उपरांत चीन शांत-

जबसे भारतीय सेना ने चीन को जवाब दिया तब से सब शांत है और सीमा पर भी हालात ठीक हैं | LAC पर सड़क के निर्माण कार्य को फ़िलहाल के लिए ताल दिया गया है गौरतलब है कि गालवां घाटी 1962 के युद्ध का केंद्र था और यहाँ चीन अपना सैन्य बल बढ़ा रहा है |

लद्दाख के पूर्वी हिस्से में अक्सर होता है विवाद-

चीन लद्दाख के पूर्वी हिस्से में अक्सर तनातनी के हालात उत्पन्न करता रहता है | 2013 और 2018 में भी घुसपैठ भी हुई थी जिसे भारतीय सेना ने नाकाम किया था | उत्तरी सिक्किम में भी कुछ विवादित सीमायें है जहाँ सैन्य बल की तैनाती की गयी है |

और पढ़े   आखिर क्यों सेना का प्रस्ताव नामंज़ूर किया Jharkhand Government ने ? क्या किसी ने बनाया दबाव ?
हमरा सहयोग करे, कुछ दान करे , ताकी हम सचाई आपके सामने लाते रहे , आप हमरी न्यूज़ शेयर करके भी हमरा सहयोग कर सकते
RELATED ARTICLES