झारखंड की राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू ने विधायकों से आह्वान किया कि वह देश के सामने ऐसा उच्च आचरण प्रस्तुत करें जो लोगों के लिए प्रेरणा स्रोत बने। उन्होंने शुक्रवार को यहां राज्य के नवनिर्मित विधानसभा भवन के उद्घाटन सत्र में अपने संबोधन में कहा कि यह राज्य के लिए ऐतिहासिक गौरव का क्षण है।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने गुरुवार को 465 करोड़ रुपये की लागत से बने इस विधानसभा भवन का उद्घाटन किया था। राज्यपाल ने कहा, झारखण्ड की चतुर्थ विधान सभा के इस 17 वें विशेष सत्र में आप सभी के बीच उपस्थित होकर मुझे अपार प्रसन्नता हो रही है। कल ही माननीय प्रधानमंत्री द्वारा इस नवनिर्मित झारखण्ड विधान सभा भवन का उद्घाटन किया गया। राज्य विधानमंडल के प्रमुख होने के नाते मुझे आज इस नये विधानसभा भवन के निर्मित होने पर अत्यन्त प्रसन्नता एवं गौरव है।

उन्होंने कहा, राष्ट्र निर्माण एक अनवरत प्रक्रिया है, जिसमें देश के हर नागरिक की अपनी-अपनी भूमिका है। विधायिका से जुड़े हम सभी का कर्तव्य है कि देश के सम्मुख ऐसा उच्च आचरण प्रस्तुत करें जो आम लोगों के लिए प्रेरणास्रोत बने ताकि लोग उसका अनुकरण करें।

उन्होंने कहा कि राष्ट्र निर्माण से जुडे़ लक्ष्य समय पर पूरे हों, यह दायित्व हम सभी का है। मुर्मू ने कहा, हम भारत के लोग इन शब्दों के साथ हमारे संविधान की प्रस्तावना प्रारंभ होती है। हमें यह याद रखना होगा कि प्रदेशवासियों की आकांक्षाओं को पूरा करने के लिए और उनकी सेवा हेतु ही आप सब इस विधान सभा के सदस्य चुने गए हैं।