उत्तराखंड सरकार का बड़ा फैसला, नकली शराब के कारोबार पर रोक लगाने के लिए लाएगी विधेयक

देहरादून। जहरीली शराब से उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड में 100 से अधिक लोगों की मौत के बाद शासन-प्रशासन नींद से जागा है। दरअसल मंगलवार को उत्तराखंड सरकार ने राज्य में नकली शराब पर लगाम लगाने के लिए एक बड़ा फैसला लिया है। सरकार ने राज्य में जहरीली शराब के कारोबार को रोकने के लिए एक विधेयक लाने का फैसला किया है। इस संबंध में मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने अधिकारियों के साथ एक उच्च स्तरीय वार्ता करते हुए यह निर्णय लिया है। बताया जा रहा है कि उन्होंने राज्य के आबकारी मंत्री प्रकाश पंत को तत्काल इसपर काम करने के लिए भी कहा है। बता दें कि कुछ दिन पहले उत्तराखंड में नकली शराब पीने से 36 लोगों की मौत हो गई थी।

सहारनपुर में शराब से 81 मौत के बाद अब यूपी के इस जिले में 100 से अधिक गायों की मौत से मचा कोहराम

उम्रकैद या भारी जुर्माना का होगा प्रावधान

बता दें कि मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा है कि उनकी सरकार मौजूदा विधानसभा सत्र में इस विधेयक को लाने का हरसंभव प्रयास करेगी। इधर आबकारी मंत्री प्रकाश पंत ने कहा कि नए प्रवाधानों के अंतर्गत दोषी पाए गए व्यक्ति को उम्रकैद की सजा या भारी जुर्माना लगाया जा सकता है। नकली शराब की खरीद व बिक्री से संबंधित गतिविधियों पर पाबंदी लगाने के लिए आबकारी विभाग के अंतर्गत एक विशेष निगरानी सेल का गठन किया जाएगा। बता दें कि उत्तराखंड मेें जहरीली शराब पीने से 36 लोगों की मौत हो गई जिसको लेकर विपक्ष सरकार पर हमलावर है। विपक्षी दलों ने सीएम रावत से इस्तीफे की मांग की और कहा कि उनकी सरकार उत्तराखंड-उत्तर प्रदेश के नकली शराब मामले को लेकर पूरी तरह विफल हो गई है, जिसमें 100 से ज्यादा लोगों की मौत हुई है। उत्तराखंड सरकार ने इस घटना के लिए विशेष जांच टीम (एसआईटी) का भी गठन किया है।

 

Read the Latest India news hindi on KhabarTak.com. पढ़ें सबसे पहले India news पत्रिका डॉट कॉम पर.