साध्वी प्रज्ञा को टिकट देकर कोई पछतावा नहीं, फर्जी भगवा आतंकवाद के खिलाफ BJP का सत्याग्रह-शाह

नई दिल्ली। भोपाल से भाजपा प्रत्याशी साध्वी प्रज्ञा ठाकुर ( Sadhvi Pragya ) के ‘देशभक्त गोडसे’ वाले बयान से देश में सियासी हलचल तेज है। इस बयान के कारण BJP विपक्षी पार्टियों के निशाने पर है। इसी बीच भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ( Amit Shah ) ने साध्वी प्रज्ञा को लेकर बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा कि साध्वी प्रज्ञा को टिकट देकर कोई पछतावा नहीं है।

पढ़ें- 5 साल में पहली बार PM की प्रेस कॉन्फ्रेंस, मोदी ने अपनी बात रखी पर नहीं दिए सवालों के जवाब

साध्वी को टिकट देकर कोई मलाल नहीं- शाह

दिल्ली स्थित भाजपा मुख्यालय में प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए अमित शाह ने कहा कि साध्वी प्रज्ञा को टिकट देना फर्जी भगवा आतंकवाद के खिलाफ बीजेपी का सत्याग्रह है। उन्होंने कहा कि इस बात का कोई मलाल नहीं है कि हमने साध्वी प्रज्ञा को टिकट दिया। उनकी उम्मीदवारी हिन्दू टेरर पर कांग्रेस के वोट बैंक पॉलिटिक्स का जवाब है। बीजेपी अध्यक्ष ने कहा कि उन्होंने एक फर्जी केस बनाया और सुरक्षा के साथ खिलवाड़ किया। अमित शाह ने कहा कि मैं कांग्रेस से पूछना चाहता हूं कि कुछ लोगों को समझौता ब्लास्ट मामले में पहले गिरफ्तार किया गया था, जो लश्कर-ए-तैयबा से थे। भगवा आतंकवाद का एक फर्जी केस बनाया गया, जिसमें आरोपी को बरी कर दिया गया है।

पढ़ें- PM मोदी के पास असीमित धनबल और मार्केटिंग, हमारे पास सिर्फ सच्चाई: राहुल गांधी

दिस दिन में बीजेपी की अनुशासनात्मक कमेटी लेगी फैसला- BJP

भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि गोडसे वाले बयान पर साध्वी प्रज्ञा को पार्टी ने नोटिस भेजा है और बीजेपी की अनुशासनात्मक कमेटी दस दिन में इस पर फैसला लेगी। गौरतलब है कि साध्वी प्रज्ञा ने कहा था कि नाथू राम गोडसे देशभक्त थे, हैं और रहेंगे। साध्वी के इस बयान से देश में सियासी हलचल तेज हो गई और विपक्षी पार्टी ने भाजपा पर जमकर हमला बोला। हालांकि, बाद में बीजेपी ने इस बयान से पल्ला झाड़ते हुए कहा कि पार्टी से इसका कोई लेना देना नहीं है और मजबूरन साध्वी को माफी मांगनी पड़ी।