नई दिल्ली। पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह और कैबिनेट मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू के बीच चली आ रही तनातनी में आखिरकार कांग्रेस नेतृत्व को हस्तक्षेप करना पड़ा है। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और महासचिव प्रियंका गांधी ने सिद्धू को उनके बयान और प्रतिक्रियाओं को लेकर सलाह दी है। आपको बता दें कि सिद्धू ने सोमवार को राहुल गांधी और महासचिव प्रियंका गांधी से मुलाकात कर अपना पक्ष रखा था। इस दौरान राहुल और प्रियंका ने सिद्धू को बड़ी सलाह दी है। तभी से माना जा रहा है कि पूर्व क्रिकेटर कोई नई जिम्मेदारी संभाल सकते हैं।

बिहार: पटना में पत्नी और बच्चों की हत्या कर व्यवसायी ने की आत्महत्या

 

असदुद्दीन ओवैसी के भाई अकबरुद्दीन की तबीयत बिगड़ी, सुधार के लिए लोगों से दुआ की अपील

नवजोत सिंह सिद्धू ने राहुल और प्रियंका से मिलकर अपनी बात कही

पार्टी सूत्रों के अनुसार पंजाब सरकार में विभाग बदलने से नाराज नवजोत सिंह सिद्धू ने राहुल और प्रियंका से मिलकर अपनी बात कही। वहीं, राहुल गांधी ने भी सिद्धू को अपनी पूरी बात रखने का मौका दिया। राजनीतिक जानकारों की मानें तो पार्टी हाईकमान ने फिलहाल सिद्धू को शांत रहने की सलाह दी है। दरअसल, कांग्रेस पार्टी में किसी विवाद को आगे बढ़ाना नहीं चाहती है। कांग्रेस ने अब सिद्धू और कैप्टन अमरिंदर के बीच सुलह कराने की जिम्मेदारी पार्टी के वरिष्ठ नेता अहमद पटेल को सौंपी है।

दिल्लीवासियों से भीषण गर्मी से मिलेगी राहत, अगले दो घंटों में हो सकती है बारिश

 

news

जम्मू-कश्मीर के शोपियां में मुठभेड़, सुरक्षाबलों ने 2 आतंकियों को किया ढेर

राहुल और प्रियंका के साथ ली गई फोटो ट्विटर पर पोस्ट

कांग्रेस ने यह स्पष्ट कर दिया है कि उनकी बयानबाजी के चक्कर में पार्टी किसी तरह का नुकसान उठाने को तैयार नहीं है। लिहाजा सिद्धू को हिदायत दी गई है कि वह ऐसा कोई काम न किया जाए जिससे पार्टी की छवि खराब हो। सिद्धू ने कांग्रेस हाईकमान से मुलाकात के बाद राहुल और प्रियंका के साथ ली गई फोटो ट्विटर पर पोस्ट की।