नई दिल्ली। उत्तराखंड में मध्य प्रदेश के पूर्व मंत्री शिवनारायण मीणा का निधन हो गया है। शिवनारायण केदरानाथ मंदिर दर्शन के लिए जा रहे थे, रास्ते में अचानक तबीयत बिगड़ने से उनकी मौत हो गई। रूद्रप्रयाग में शिवनारायण मीणा को दिल का दौरा पड़ा और वहीं पर उनका निधन हो गया। शिवनारायण के निधन पर पूर्व सीएम शिवराज सिंह चौहान ने दुख जताया है।

शिवनारायण का पार्थिव शरीर बुधवार को चांचौड़ा लाया जाएगा। जहां गुरुवार को उनका अंतिर संस्कार होगा। शिवनारायण के निधन से पूरे प्रदेश में शोक की लहर है। आपको बता दें कि शिवनारायण पूर्व सीएम दिवग्विजय सिंह की सरकार में मंत्री रह चुके है। उनके जाने से मध्य प्रदेश के सियासी गलियारों में मायूसी छा गई है।

भारत ने ही रखा चक्रवात ‘वायु’ का नाम, ऐसे दिए जाते है तूफानों के नाम

 

दिग्विजय के करीबियों में गिनती
शिवनारायण मीणा का कद मध्यप्रदेश की सियासत में बड़ा माना जाता है। इसकी बड़ी वजह उनकी राजनीतिक समझ और पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह का करीबी होना भी है। दिग्विजय सिंह के कार्यकाल में शिवनारयण मीणा दो बार राज्य मंत्री रहे।

गुना जिले से खास नाता
शिवनारायण मीणा गुना जिले की चाचौड़ा विधानसभा के किताखेड़ी के निवासी थे। यहीं से उन्होंने अपने राजनीतिक जीवन की शुरुआत की और प्रदेश में अपने कद को एक अलग मुकाम पर ले जाकर खड़ा किया। कांग्रेस नेताओं की माने तो शिवनारायण के जाने से कांग्रेस को बड़ा नुकसान हुआ है। प्रदेश के कांग्रेसी खेमे में शोक की लहर है।

दिग्विजय के बेटे ने जताया दुख
शिवनारायण दिग्विजय सिंह के तो करीबी थे ही साथ ही उनके बेटे जयवर्धन सिंह का करियर बनाने में भी उनकी महत्वपूर्ण भूमिका रही है। खुद जयवर्धन के मुताबिक शिवनारायण मीणा राजनीतिक जीवन में उनके पथ प्रदर्शक रहे। जयवर्धन कहा कि शिवनारायण का जाना परिवार के अहम सदस्य के जाने जैसा है।

पढ़ेंः ओवैसी का बड़ा बयान, इस वजह से चुनाव में हुई राहुल गांधी की जीत