नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव ( Loksabha Election ) भले हुए खत्म हो चुका है, लेकिन देश में सियासी सरगर्मी अब भी अपने चरम पर हैं। कर्नाटक ( Karnataka ) और गोवा ( Goa ) में सियासी ड्रामे के कारण देश में राजनीति गरमाई हुई है।

इसी बीच तेलुगू देशम पार्टी ( TDP ) के पूर्व विधायक जेसी प्रभाकर रेड्डी ( JC Prabhakar Reddy ) ने काफी चौंकाने वाला दावा किया है। उन्होंने कहा कि जल्द ही टीडीपी ( TDP ) का भाजपा ( BJP ) में विलय हो जाएगा।

आंध्र प्रदेश के अनंतपुरम में मीडिया से बात करते हुए जेसी प्रभाकर रेड्डी ने कहा कि राजनीति में न तो कोई कोई किसी का दोस्त होता है और न ही कोई दुश्मन।

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को टीडीपी प्रमुख चंद्रबाबू नायडू के अनुभवों और विचारों की जरूरत है। लिहाजा, जल्द ही टीडीपी का बीजेपी में विलय हो जाएगा।

 

हालांकि, इस मामले पर न तो चंद्रबाबू नायडू का कोई बयान आया है और न ही बीजेपी के नेताओं ने कोई प्रतिक्रिया दी है। लेकिन, प्रभाकर रेड्डी के बयान से सियासत जरूर गरमा गई है। गौरतलब है कि जेसी प्रभाकर रेड्डी टीडीपी के पूर्व सांसद जेसी दिवाकर रेड्डी के भाई हैं।

यहां आपको बता दें कि 2014 में टीडीपी, एनडीए ( NDA ) का हिस्सा था। लेकिन, बीच में ही चंद्रबाबू नायडू एनडीए से अलग हो गए। नायडू का कहना था कि मोदी सरकार ने उनकी मांगों को पूरी नहीं की।

लिहाजा, अब वह एनडीए का हिस्सा नहीं रहेंगे। 2019 लोकसभा चुनाव और आंध्र प्रदेश विधानसभा चुनाव में टीडीपी को करारी शिकस्त मिली है। आंध्र प्रदेश में वाईएसआर कांग्रेस ने परचम लहाराया है।

 

file photo

टीडीपी के नेता जेसी प्रभाकर रेड्डी ने ऐसे समय में यह बयान दिया है, जब कर्नाटक और गोवा में सियासी सरगर्मी चरम पर है। कर्नाटक में कांग्रेस और जेडीएस के 16 विधायकों ने इस्तीफा दे दिया है।

वहीं, गोवा में कांग्रेस के 10 विधायक BJP में शामिल हो गए हैं। कांग्रेस और विपक्षी पार्टियों का कहना है कि इस सियासी नाटक के लिए बीजेपी जिम्मेवार है? अब देखना यह है कि आंध्र प्रदेश की राजनीति किस करवट बैठती है।