नई दिल्ली। कर्नाटक का राजनीतिक संकट ( Karnataka political crisis ) अब सुप्रीम कोर्ट ( Supreme Court ) की शरण में पहुंच चुका है। वहीं मुख्यमंत्री एच.डी. कुमारस्वामी ने दावा किया है कि गठबंधन सरकार के पास विधानसभा में बहुमत है। इन सभी घटनाक्रम के बीच राहुल गांधी ( Rahul Gandhi ) ने बीजेपी पर गंभीर आरोप लगाए हैं।

सत्ता के लिए कुछ भी करती बीजेपी: राहुल

राहुल ने कहा कि कर्नाटक में कांग्रेस-जेडीएस के गठबंधन वाली सरकार को गिराने के लिए बीजेपी धनबल का प्रयोग कर रही है। राहुल गांधी ने कहा कि हम ऐसे पहले भी देख चुके हैं कि सत्ता के लिए बीजेपी किसी भी हद तक चली जाती है।

चारा घोटाला: लालू यादव को मिली सशर्त जमानत, लेकिन जेल से नहीं आ पाएंगे बाहर

फ्लोर टेस्ट से डर रही बीजेपी: सिद्धारमैया

वहीं कर्नाटक के पूर्व सीएम और कांग्रेस नेता सिद्धारमैया ने भी बीजेपी पर हमला बोला है। उन्होंने कहा कि हम विधानसभा में बहुमत साबित करने के लिए तैयार हैं लेकिन बीजेपी इससे डर रही है। कांग्रेस नेता ने कहा कि बीजेपी को पता है कि उनकी पार्टी में जो लोग हैं वे किसी काम के नहीं।

धोनी क्रिकेट से संन्यास लेकर जल्द ही BJP में हो जाएंगे शामिल, संजय पासवान का दावा

सुप्रीम कोर्ट की शरण में कर्नाटक का रण

इससे पहले सुप्रीम कोर्ट ने कर्नाटक के बागी कांग्रेस व जद (एस) विधायकों की 10 जुलाई की याचिका पर यथास्थिति बनाए रखने का आदेश दिया। बागी विधायकों ने आरोप लगाया है कि विधानसभा अध्यक्ष केआर रमेश उनके इस्तीफे स्वीकारने में देरी कर रहे हैं।

चीफ जस्टिस रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली पीठ ने कहा कि मामले पर विस्तृत सुनवाई की जरूरत है। मामले की अगली सुनवाई मंगलवार को होनी है।

सीएम ने किया बहुमत का दावा

कर्नाटक विधानसभा के 10 दिवसीय मॉनसून सत्र के शुरू हुआ है। कार्यवाही शुरू होने के साथ ही कुमारस्वामी ने बहुमत का दावा करते हुए फ्लोर टेस्ट के लिए तैयार रहने की बात कही। स्पीकर से उन्होंने कहा कि मेरी सरकार के पास बहुमत है, मैं विश्वास मत साबित करने के लिए तैयार हूं। मेरा आप से निवेदन है कि इस बाबत एक तिथि और समय तय करें।