नई दिल्ली। कर्नाटक में चल रही कुर्सी की कलह ( Karnataka political crisis ) के बीच भारतीय जनता पार्टी ( BJP ) के कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा ( JP Nadda on karnataka crisis ) का बड़ा बयान सामने आया है। जेपी नड्डा ने कर्नाटक के राजनीतिक उफान पर बीजेपी की भूमिका को नकारा है।

जेपी नड्डा ने विपक्ष की ओर से लगाए जा रहे ऐसे आरोपों को आधार और तथ्यहीन बताया है। उन्होंने कहा है कि यह कांग्रेस का आंतरिक मामला है। उनके राष्ट्रीय अध्यक्ष ने इस्तीफा दिया इसके बाद हर कोई अपने तरीके से इस्तीफा दे रहा है।

पढ़ेंः नवजोत सिंह सिद्धू ने मंत्री पद से दिया इस्तीफा, 10 जून को ही राहुल गांधी को सौंपा था

नड्डा ने कांग्रेस पर साधा निशाना
बीजेपी के कार्यकारी अध्यक्ष रविवार को झारखंड की राजधानी रांची पहुंचे थे। यहां वह भाजपा के सदस्यता अभियान में हिस्सा लेने पहुंचे थे।

इस दौरान नड्डा ने कहा कि पूरा देश कांग्रेस की संस्कृति से मुक्ति चाहता है। यही वजह है कि लोग लगातार इस्तीफा दे रहे हैं।

कांग्रेस मुक्त भारत के नारे पर दी सफाई
नड्डा ने कांग्रेस मुक्त भारत के भाजपा के नारे पर भी सफाई दी। उन्होंने कहा कि कांग्रेस मुक्त भारत का मतलब कांग्रेस की कमीशन और करप्शन की संस्कृति से मुक्ति है।

 

modi

चंद्रयान-2 मिशन : जिस स्टील संयंत्र को बेचने की तैयारी में है सरकार, उसी में बनी ये खास चीज

पीएम मोदी के नेतृत्व में पनपी नई संस्कृति
बीजेपी के कार्यकारी अध्यक्ष ने कहा कि पिछले कुछ वर्षों में पीएम नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में एक अलग तरह की संस्कृति विकसित हुई है। इसने वोट बैंक और जातिवाद को पीछे छोड़ दिया है।

नई संस्कृति में विकासवाद की राजनीति को जगह मिली है। यह संस्कृति हमारी है और इसी विचार को लेकर हम आगे बढ़ रहे हैं। पीएम मोदी की इसी संस्कृति से लोग जुड़ रहे हैं।

झारखंड में दो दिन का दौरा
आपको बता दें कि बीजेपी के कार्यकारी अध्यक्ष झारखंड में दो दिवसीय दौरे पर हैं। इस दौरान उन्होंने संगठन स्तर पर की गई बैठकों के बारे में जानकारी भी साझा की।

साथ ही सदस्यता अभियान के तहत नए सदस्य बनाए जाने की बात भी कही।

नड्डा ने बताया कि सांसदों और विधायकों को भी सदस्यता अभियान से जुड़ने की नसीहत दी गई है। विधायकों को बूथ स्तर पर काम करने को भी कहा गया है।