नई दिल्ली। सिक्किम में अचानक बड़ा सियासी उलटफेर हुआ है। पूर्व सीएम को छोड़कर सिक्किम डेमोक्रेटिक फ्रंट (SDF) के करीब-करीब सभी विधायक आज बीजेपी में शामिल हो गए। इस बड़े उलटफेर से सियासी हड़कंप मच गया है।

 

बीजेपी के कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा और महासचिव राम माधव के नेतृत्व में कुल 10 विधायकों ने बीजेपी की सदस्यता ग्रहण की। 32 सीटों वाले राज्य में SDF ने 25 सालों तक राज किया और पवन चामलिंग ही मुख्यमंत्री रहे। वहीं, इसी साल लोकसभा चुनाव के साथ कराए गए विधानसभा चुनाव में एसडीएफ पूर्व बहुमत से दूर रही थी। 13 विधायकों के साथ एसडीएफ इस बार विपक्ष में बैठी है। वहीं, इस चुनाव में सिक्किम क्रांतिकारी मोर्चा को 17 सीटें हासिल हुई थीं और प्रेम सिंह तमांग मुख्यमंत्री बने हैं। चर्चा यह है कि 2 दो और विधायक जल्द ही बीजेपी का दामन थाम सकते हैं।

 

bjp

गौरतलब है कि सिक्किम में हुए विधानसभा चुनाव में सिक्किम डेमोक्रेटिक फ्रंट को भले ही ज्यादा सीटें नहीं मिली थी, लेकिन वोट शेयर में पार्टी अव्वल रही थी। चुनाव में सिक्किम डेमोक्रेटिक फ्रंट को 55 फीसदी वोट मिले थे। वहीं सिक्किम डेमोक्रेटिक मोर्चा 40 फीसदी वोट शेयर के साथ दूसरे नंबर पर रही थी। बीजेपी को 0.71 फीसदी और कांग्रेस को 0.4 फीसदी वोट मिले थे।