नई दिल्ली। जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सिटी (JNU) की पूर्व छात्रा और जम्मू-कश्मीर की नेता शेहला रशीद ने राजनीति छोड़ने का ऐलान कर दिया है। कश्मीर की हालत को लेकर शहला रशीद ने राजनीति को अलविदा कहा है। शेहला का आरोप है कि वह कश्मीरियों के साथ हो रहे बर्ताव से बेहद आहत हैं और वह बर्दाश्त नहीं कर सकती हैं। शेहला ने कश्मीर की हालात को लेकर केंद्र सरकार को जिम्मेदार ठहराया।

उन्होंने कहा कि जम्मू-कश्मीर में लोकतंत्र नहीं बचा वहां उसकी हत्या की जा रही है। बता दें कि इस साल मार्च में शेहला रशीद ने शाह फैसल की पार्टी जम्मू-कश्मीर पीपल्स मूवमेंट में शामिल हुई थीं।

ये भी पढ़ें: सलमान खुर्शीद के बयान पर राशिद अल्वी का पलटवार, घर के लोग ही घर में आग लगा रहे

शेहला रशीद पर देशद्रोह का आरोप

गौरतलब है कि पिछले दिनों जेएनयू छात्रसंघ की नेता शेहला रशीद को देशद्रोह मामले में कोर्ट से बड़ी राहत मिली थी। सितंबर में पटियाला हाउस कोर्ट ने उन्हें गिरफ्तारी पर अंतरिम रोक लगा दी । शेहला राशिद पर जम्मू-कश्मीर को लेकर सेना के खिलाफ झूठे, विसंगत, राष्ट्रविरोधी ट्वीट्स करने और फर्जी खबरें फैलाने का आरोप है।

गौरतलब है कि दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने जेएनयू छात्र नेता शेहला राशिद के खिलाफ देशद्रोह का केस दर्ज किया है। मामला सुप्रीम कोर्ट के वकील अलख आलोक श्रीवास्तव की शिकायत पर दर्ज किया गया है।