नई दिल्‍ली। कांग्रेस में नेतृत्‍व को लेकर जारी घमासान के बीच पार्टी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी गुरुवार को एक आपराधिक मामले में सूरत कोर्ट में पेश हुए। सुनवाई शुरू होते ही अदालत ने पूछा क्‍या आपको गुनाह कबूल है। इस पर राहुल गांधी ने जवाब दिया कि मुझे गुनाह कबूल नहीं है।

इसके बाद सूरत कोर्ट ने आज की सुनवाई स्‍थगित कर दी। अगली सुनवाई के लिए कोर्ट ने 10 दिसंबर की तारीख मुकर्रर की है। इससे पहले वह विदेश से वापसी के तत्‍काल बाद मानहानि केस में पेश होने के लिए सूरत के लिए रवाना हो गए थे।

क्या है मामला?
दरअसल, लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान राहुल गांधी ने विवादित बयान दिया था। राहुल गांधी ने कहा था कि सभी चोरों का उपनाम मोदी क्यों होता है। भले ही पीएम मोदी पर तंज कसने के लहजे में उन्‍होंने ऐसा कहा, लेकिन इसे मोदी समुदाय के गुजरात के लोगों ने अपने स्‍वाभिमान के खिलाफ करार दिया।

इस मामले में राहुल गांधी के खिलाफ स्थानीय बीजेपी विधायक पूर्णेश मोदी ने आपराधिक मानहानि का केस दर्ज कराया था। सूरत पश्चिम सीट से विधायक पूर्णेश मोदी ने अपनी शिकायत में कहा था कि राहुल गांधी ने पूरे मोदी समुदाय को बदनाम किया है।

बीजेपी विधायक ने बताया है कि एक चुनावी रैली में जब राहुल गांधी ने पूछा था कि नीरव मोदी, ललित मोदी, नरेंद्र मोदी…इन सबका उपनाम मोदी ही कैसे है? इसपर उन्‍होंने कहा था कि सभी चोरों के उपनाम मोदी क्यों हैं?