नई दिल्ली। पश्चिम बंगाल के मुर्शिदाबाद में एक आरएसएस के सक्रिय कार्यकर्ता सहित परिवार के तीन लोगों की जघन्‍य हत्‍या के बाद भारतीय जनता पार्टी ( BJP ) के राष्‍ट्रीय महासचिव और प्रदेश प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय ने मुख्‍यमंत्री ममता बनर्जी पर निशाना साधा है। भाजपा के महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने कहा है कि पश्चिम बंगाल अराजकता के दौर से गुजर रहा है। वहां हो रही राजनीतिक हत्याओं से मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की झल्लाहट साफ जाहिर होती है।

भाजपा नेता विजयवर्गीय ने कहा कि लोकसभा चुनाव में हार मिलने के बाद ममता बनर्जी बौखला गई हैं। पिछले पांच दिनों में चार कार्यकर्ताओं की हत्या हुई हैं। ममता राज्य में आतंक पैदा कर दोबारा सत्ता हासिल करना चाहती हैं।

राष्‍ट्रपति शासन लगाने पर विचार करे केंद्र सरकार

वहीं आरएसएस के नेता और वीएचपी के अंतरराष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष आलोक कुमार ने गुरुवार को पश्चिम बंगाल के मुर्शिदाबाद में एक आरएसएस स्वयंसेवक, उसके पत्नी और बच्चे की हत्या पर मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को आड़े हाथों लिया है। ओलाक कुमार ने केंद्र सरकार से जघन्‍य हत्‍याकांड पर गंभीरता से विचार करने की मांग की है। उन्‍होंने कहा कि केंद्र सरकार को इस बात पर विचार करना चाहिए कि पश्चिम बंगाल संविधान के मुताबिक चलेगा या राज्य में राष्ट्रपति लागू करने का समय आ गया है।

प्रदेश की जनता देगी करारा जवाब

वीएचपी नेता आलोक कुमार ने कहा कि महिला और बच्चे के साथ किसी की क्या दुश्मनी हो सकती है। यहां स्थिति ऐसी है कि केंद्रीय मंत्री के साथ भी गुंडागर्दी होती है। पश्चिम बंगाल की जनता आने वाले चुनावों में तृणमूल कांग्रेस को करारा जवाब देगी। राज्य में डर का माहौल है और मैं भरोसे के साथ कह सकता हूं कि राष्ट्रवादी लोग इन घटनाओं के खिलाफ एकजुट होंगे।

वीएचपी के आलोक कुमार ने कहा कि पश्चिम बंगाल के हालात केरल से भी बदतर हैं। ऐसा लगता है कि पश्चिम बंगाल में कानून-व्यवस्था नाम की कोई चीज नहीं है। अपने विपक्षियों से निपटने के लिए टीएमसी ने बर्बरता, लूट, रेप और हत्या कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि पश्चिम बंगाल में आरएसएस के स्वयंसेवकों की हत्या के आंकड़े केरल से भी आगे निकल गए हैं।