नई दिल्ली। महाराष्ट्र में सरकार गठन को लेकर चल रही बीजेपी-शिवसेना की लड़ाई अब खुलकर सामने आ गई है। सीएम देवेंद्र फडणवीस के इस्तीफा देने के बाद शिवसेना पर लगाए आरोपों का शिवसेना ने जमकर पलटवार किया है। खुद शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे इसके लिए मैदान में उतरे और मीडिया के जरिये बीजेपी को खरी खोटी सुनाई।

उद्धव ने कहा कि शिवसेना झूठ बोलने वालों की पार्टी नहीं है। बीजेपी (फडणवीस) ने शिवसेना पर जो भी आरोप लगाए हैं वो निराधार हैं। बीजेपी ने हमेशा 50-50 फॉर्मूले पर चलने के बात कही। ये बात खुद अमित शाह महाराष्ट्र आकर कह गए थे।

बिग ब्रेकिंगः देवेंद्र फडणवीस ने इस्तीफा देने के बाद बताया अगला प्लान, ऐसे बनेगी सरकार

[MORE_ADVERTISE1]

बाला साहेब ठाकरे का दिया हवाला
उद्धव ठाकरे ने बाला साहेब ठाकरे का हवाला देते हुए कहा कि मैं इस पूरे मामले सिर्फ सच के साथ खड़ा रहा। बावजूद इसके बीजेपी ने लगातार हमारे साथ धोखा किया। हर बार अपने वादों से बीजेपी मुकरती रही।
जब बात नहीं बनी तो शिवसेना पर ही जनादेश का अपमान करने का आरोप लगा दिया। जबकि बीजेपी शुरू से प्रदेश में राष्ट्रपति शासन ही चाहती थी।

विधायकों को खरीदने की कोशिश
उद्धव ने ये भी कहा कि बीजेपी लगातार शिवसेना समेत कांग्रेस के विधायकों को भी खरीदने की कोशिश की। अब भी उनकी नजरें विधायकों को दबाव और प्रलोभन देकर अपने पाले में करने की है।

हमने देखा मणिपुर,गोवा कैसे बनी सरकार

उद्धव ने बीजेपी पर आरोप लगाते हुए कहा कि हमने पहले ही भी देखा है कि गोवा और मणिपुर में बीजेपी ने कैसे सरकार बनाई है। उद्धव का इशारा विधायकों की खरीदने की तरफ था। यही नहीं उन्होंने ये भी कहा मैंने कभी भी पीएम मोदी पर आरोप नहीं लगाए। ये भी बीजेपी का बड़ा झूठ है।

[MORE_ADVERTISE2]