नई दिल्‍ली। भारतीय जनता पार्टी ( बीजेपी ) के राज्‍यसभा सांसद और आरएसएस नेता राकेश सिन्‍हा ने कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू पर गंभीर आरोप लगाया है। राकेश सिन्हा ने कहा कि हमारी और सिद्धू की विचारधारा अलग हो सकती है, लेकिन देश की संप्रभूता और सुरक्षा के मुद्दे पर सभी को एक होना चाहिए।

दुशमन देश से दोस्‍ती रखना सही नहीं

बीजेपी सांसद राकेश सिन्‍हा ने कहा कि राष्ट्रहित में दुश्मन देश से दोस्ती रखना ठीक नहीं है। मुझे लगता हैं कि सिद्धू को इमरान खान पाकिस्तान का मोहरा बनाकर खेल रहे हैं। इस बात को सिद्धू या तो समझ नहीं रहे हैं या फिर वो इमरान का मोहरा बन रहे हैं।

सिद्धू इस बात को बखूबी जानते हैं कि कैसे इमरान खान की सरकार ने राहुल गांधी के पुलवामा आतंकी और बालाकोट हमले सहित धारा 370 समाप्‍त करने के मुद्दे पर उनके बयान को यूएन में उठाया। इतना ही नहीं राहुल गांधी के बयानों के आधार पर यूएन में इमरान खान की सरकार ने भारत को घेरने की कोशिश भी की।

दोस्‍ती होना गलत बात नहीं

आरएसएस नेता राकेश सिन्हा ने कहा कि सिद्धू की दुश्मन देश पाकिस्तान के प्रधानमंत्री से दोस्ती है। दोस्ती होना गलत बात नहीं है, लेकिन पाकिस्तान हमेशा भारत के आंतरिक मामलों में दखल देने की कोशिश करता है। सिद्धू को एक बात समझनी चाहिए कि पूरे विश्व में इमरान खान की आलोचना हो रही है। इसलिए इमरान खान को सिद्धू ही दिख रहे हैं।

सिद्धू पर स्टैंड साफ करें राहुल-सोनिया

कांग्रेस पर आरोप लगाते हुए बीजेपी सांसद राकेश सिन्हा ने कहा कि सिद्धू जिस तरह से दुश्मन देश का मोहरा बने हुए हैं, इसके लिए राहुल गांधी और सोनिया गांधी बयान देकर अपना स्टैंड साफ करना चाहिए.

सिद्धू करते हैं धमकाने वाली बात

बता दें कि कांग्रेस नेता और पंजाब सरकार में पूर्व मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू करतारपुर कॉरिडोर के उद्घाटन समारोह में शामिल होने को लेकर विदेश मंत्री एस जयशंकर को तीन बार खत लिख चुके हैं। उन्होंने पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर से भी इजाजत मांगी थी। सिद्धू पाकिस्तान में करतारपुर कॉरिडोर के उद्घाटन समारोह में शामिल होना चाहते हैं।

सिद्धू ने विदेश मंत्री एस जयशंकर को लिखे तीसरे पत्र में कहा कि अगर उन्हें करतारपुर कॉरिडोर के उद्घाटन समारोह में शामिल होने के लिए सरकार की ओर से इजाजत नहीं मिलती है तो आम नागरिक की तरह वह भी नहीं जाएंगे, लेकिन अगर इस संबंध में किसी तरह का कोई जवाब नहीं आता है तो वह पाकिस्तान चले जाएंगे।

[MORE_ADVERTISE1]