नई दिल्ली। अयोध्‍या राम मंदिर जमीन विवाद पर सुप्रीम कोर्ट ने अपना फैसला सुना दिया है। फैसला आने के बाद तमाम राजनेताओं और दिग्गजों की प्रतिक्रियाएं सामने आ रही हैं। एआइएमआइएम के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर प्रतिक्रिया देते हुए असहमती जताई है।

यह भी पढ़ें-Ayodhya verdict: अयोध्या मामले पर सुनवाई के दौरान हिंदू पक्षकारों ने रखा था ये तर्क

ओवैसी ने सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर सवाल उठाते हुए कहा कि तथ्यों पर आस्था की जीत हुई है। हमे खैरात में 5 एकड़ जमीन नहीं चाहिए। बता दें कि सुप्रीम कोर्ट ने आज ऐतिहासिक फैसला सुनाते हुए विवादित जमीन राम जन्मभूमि न्यास को देने का फैसला ( Ayodhya Faisla ) किया है। साथ ही सुन्नी वफ्त बोर्ड को अयोध्या में अलग से 5 एकड़ जमीन देने की बात कही है।

खैरात में नहीं चाहिए जमीन

AIMIM प्रमुख ने कहा हम अपने हक के लिए लड़ रहे थे। मुस्लिम पक्षकारों को 5 एकड़ जमीन नहीं लेनी चाहिए। उन्होंने कहा कि अगर मैं हैदराबाद में घूम जाऊं तो कई एकड़ मिल जाएंगे। ओवैसी ने कहा कि अब देखना होगा की मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड इस पर क्या फैसला करता है।

 

[MORE_ADVERTISE1]

[MORE_ADVERTISE2]

बीजेपी का ओवैसी को जवाब

[MORE_ADVERTISE3]

वहीं, ओवीसी के बयान पर बीजेपी ने कड़ा ऐतराज जताया है। बीजेपी नेता शाहनवाज हुसैन ने कहा कि ओवैसी का सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर ऐसा बयान गलत है।

उन्होंने एक तरफ सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर सवाल उठाया तो दूसरी सरफ सम्मान किया है। बीजेपी नेता ने देश की जनता से अपील करते हुए कहा कि वे ऐसे भड़काऊ बयानों पर ध्यान ना दे।

सुप्रीम कोर्ट ने सुनाया ये फैसला

sc.jpeg

अयोध्‍या राम मंदिर जमीन विवाद पर सुप्रीम कोर्ट ने फैसल सुनाते हुए विवादित जमीन राम जन्मभूमि न्यास को देने का फैसला ( Ayodhya Faisla ) किया है। सुन्नी वफ्त बोर्ड को अयोध्या में अलग से 5 एकड़ जमीन देने की बात कही है।

चीफ जस्टिस ने बाबरी मस्जिद (babri masjid) मामले पर शिया वक्फ बोर्ड (shia Central waqf board) के दावे को भी खारिज कर दिया है। सुप्रीम कोर्ट की पांच जजों की बेंच ने फैसला सुनाते हुए मंदिर निर्माण के लिए अलग से बनेगा ट्रस्‍ट बनाने की बात कही है।