मुंबई : महाराष्ट्र में सरकार बनाने के लिए राज्य के गर्वनर भगत सिंह कोश्यारी ने राज्य के सबसे बड़े दल भाजपा को निमंत्रण दिया था, लेकिन भाजपा ने यह कहते हुए इनकार कर दिया है कि वह अकेले सरकार नहीं बना सकती है। इसके बाद राज्यपाल ने शिवसेना को सरकार बनाने की दावत दी है। इस बीच शिवसेना के वरिष्ठ नेता संजय राउत ने बयान दिया है कि शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने स्पष्ट कर दिया है कि राज्य में हर हाल में मुख्यमंत्री शिवसेना का बनेगा। यदि उद्धव जी ने कह दिया तो हर हाल में राज्य का मुख्यमंत्री तो शिवसेना का ही होगा।

[MORE_ADVERTISE1]

[MORE_ADVERTISE2]

उद्धव को मुख्यमंत्री बनाने की तैयारी

इस बीच लगता है कि शिवसेना ने अपनी स्ट्रेटजी में बदलाव किया है। अभी तक वह शिवसेना की ओर से उद्धव ठाकरे के पुत्र आदित्य ठाकरे को आगे कर रही थी, लेकिन अब ऐसे संकेत मिल रहे हैं कि पार्टी मुख्यमंत्री के नाम के लिए उद्धव ठाकरे का नाम आगे बढ़ा सकती है। अब पूरे मुंबई में मुख्यमंत्री के तौर पर उद्धव ठाकरे की होर्डिंग्स लग गई है। जाहिर है कि पार्टी की तरफ से इशारा मिलने के बाद ही कार्यकर्ताओं ने ऐसा किया होगा। इन होर्डिंग्स में लिखा है कि शिवसैनिकों की इच्छा है कि महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ही बनें। इसमें यह भी लिखा है कि यही महाराष्ट्र की जरूरत भी है।

भाजपा ने सरकार बनाने से किया मना

रविवार की देर शाम देवेंद्र फडणवीस के नेतृत्व में भाजपा के एक दल ने राज्य के गवर्नर कोश्यारी से मिलकर कहा कि उनके पास अकेले सरकार बनाने के लिए बहुमत नहीं है। इसलिए वह सरकार नहीं बनाएंगे। राज्यपाल से मुलाकात के बाद महाराष्ट्र भाजपा के अध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल ने इसकी जानकारी संवाददाताओं को दी। प्रेस कॉन्फ्रेंस में उन्होंने कहा कि भाजपा-शिवसेना को मिलकर सरकार बनाने का जनादेश मिला था, लेकिन अब शिवसेना इस गठबंधन धर्म का अनादर कर रही है। वह कांग्रेस-एनसीपी के साथ सरकार बनाना चाहती है। यदि शिवसेना ऐसा करना चाहती है तो हमारी शुभकामनाएं उनके साथ हैं।

शिवसेना के विधायक होटल भेजे गए

इस बीच शिवसेना ने हॉर्स ट्रेडिंग से बचाने के लिए 56 में से अपने अधिकतर विधायकों कोक मलाड स्थित एक होटल भेज दिया है। वहीं कांग्रेस ने अपने 44 विधायकों को राजस्थान की राजधानी जयपुर के एक रिजॉर्ट में शिफ्ट कर दिया है।

[MORE_ADVERTISE3]