महाराष्ट्र में सियासी हलचल तेज हो गई है। राज्य में सरकार के गठन को लेकर शिवसेना, बीजेपी और कांग्रेस में बैठकों को दौर जारी है। शिवसेना और भाजपा में मुख्यमंत्री के पद को लेकर खींचतान चल रही थी। अब शिवसेना की बैठक में विधायकों ने मांग की है कि उद्धव ठाकरे को मुख्यमंत्री बनाया जाए। रविवार को शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे की अगुवाई में पार्टी विधायकों की बैठक हुई। बैठक में विधायकों ने उद्धव ठाकरे को मुख्यमंत्री बनाने की मांग कर दी। जबकि इससे पहले आदित्य ठाकरे को मुख्यमंत्री बनाए जाने की बात सामने आ रही थी।

[MORE_ADVERTISE1]

[MORE_ADVERTISE2]

ऐसे में महाराष्ट्र में सरकार गठन का सुलझता दिखाई दे रहा मामला एक बार फिर नए पेंच में फंस रहा है। पहले केवल शिवसेना और भारतीय जनता पार्टी के बीच वाकयुद्ध चल रहा था। अब बीजेपी-शिवसेना-एनसीपी-कांग्रेस सभी पार्टियां इसमें शामिल हो गई हैं।

महाराष्ट्र में बदले नेताओं के सुर, संजय राउत ने कहा- कांग्रेस हमारी दुश्मन नहीं

बता दें, शिवसेना के विधायक मुंबई के होटल रीट्रीट में रुके हुए हैं। रविवार को उद्धव ठाकरे इनसे मुलाकात के लिए पहुंचे थे। इस समय उनकी पत्नी भी साथ मौजूद थीं। बैठक शुरू होने पर विधायकों ने सरकार गठन के लिए अपने सुझाव दिए और आदित्य नहीं बल्कि उद्धव ठाकरे को मुख्यमंत्री बनाए जाने की मांग की। गौर हो, इससे पहले उद्धव को मुख्यमंत्री बनाने की मांग करते हुए पोस्टर भी चिपकाए गए थे।

मुहूर्त देखकर 2020 से शुरू हो सकता है भव्य राम मंदिर का निर्माण

दूसरी तरफ ये जानकारी भी सामने आ रही है कि कांग्रेस विधायकों ने शिवसेना को समर्थन देने की इच्छा जताई है। वहीं, शिवसेना नेता संजय राउत ने कहा है कि हमारी कांग्रेस से कोई दुश्मनी नहीं है। जबकि राज्यपाल बीजेपी को सरकार बनाने के बारे में पूछ चुके हैं।

[MORE_ADVERTISE3]