छत्रपति के वंशज का बड़ा आरोप, शिवाजी महाराज के नाम पर 'ठाकरे सेना' मौकापरस्त

मुंबई। छत्रपति शिवाजी महाराज से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तुलना करने वाली किताब को लेकर छिड़े राजनीतिक भूचाल के बीच अब एक नया नाम जुड़ गया है। शिवाजी महाराज के वंशज और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) नेता उदयनराजे भोसले ने मंगलवार को महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे पर निशाना साधा। भोसले ने कहा कि शिवसेना का नाम ठाकरे सेना कर देना चाहिए क्योंकि यह छत्रपति का नाम अपनी जरूरत के हिसाब से करते हैं।

BIG NEWS: इस दिग्गज नेता का दावा, छत्रपति शिवाजी महाराज की तरह है पीएम मोदी, मची खलबली

दरअसल भाजपा नेता जय भगवान गोयल द्वारा लिखी गई किताब ‘आज के शिवाजीः नरेंद्र मोदी’ के विमोचन ने एक नए विवाद को जन्म दे दिया है। भाजपा पर शिवसेना ही नहीं कांग्रेस ने भी हमला बोल दिया है।

उदयनराजे ने मंगलवार को एक पत्रकार वार्ता में शिवसेना के पार्टी कार्यालय पर लगे महाराष्ट्र के मुखिया उद्धव ठाकरे के पोस्टर को दिखाते हुए कहा, “अगर शिवसेना महाराज का सम्मान करती है तो उन्हें महाराज जी की प्रतिमा के ऊपर ठाकरे का पोस्टर नहीं रखना चाहिए था।”

इस दौरान शिवसेना, कांग्रेस और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) के महागठबंधन महाराष्ट्र विकास अघाड़ी पर निशाना साधते हुए उदयनराजे ने कहा, “शिवसेना ने महा शिवा अघाड़ी से शिव को हटा दिया… इसकी वजह यह है कि पार्टी महाराज का नाम अपनी जरूरत के हिसाब से करती है।”

उन्होंने कहा, “मैं आपको बता रहा हूं कि आपका वक्त गुजर गया। अब खुद को शिवसेना कहना बंद कर दो, इसकी बजाय आपको खुद को ठाकरे सेना कहना चाहिए। महाराष्ट्र के लोग ‘बेवकूफ’ नहीं हैं।”

भोसले ने आगे कहा कि उन्होंने उस किताब के लेखक को किसी तरह की कोई राशि नहीं दी है। उन्होंने कहा, “यह देख कर बुरा लग रहा है कि महाराज की तुलना की जा रही है। दुनिया में किसी का भी कद महाराज के बराबर नहीं है।”