कर्नाटक बीजेपी का ट्विटर अकाउंट 24 घंटे के लिए हुआ ब्लॉक, पार्टी अधिकारी ने बताई वजह

नई दिल्ली। नए साल की शुरुआत से ही भारतीय जनता पार्टी ( BJP ) के लिए वक्त कुछ खास साथ नहीं दे रहा है। विधानसभा चुनावों में हार, नागरिकता संशोधन कानून ( CAA ) और NRC को लेकर विरोध प्रदर्शन ने पार्टी की परेशानी काफी बढ़ा दी थी। इस बीच कर्नाटक ( Karnataka ) से भी बीजेपी के लिए बड़ी खबर आ गई। कर्नाटक में बीजेपी के ऑफिशन ट्विटर अकाउंट ( Twitter Account ) को 24 घंटे के लिए ब्लॉक कर दिया गया।

दरअसल कर्नाटक बीजेपी के ट्विटर हैंडल से उदार विचारधारा वाले लोगों को लेकर एक ट्वीट किया गया था, जिसके बाद ट्विटर ने यह पाबंदी लगाई है।

निर्भया केसः तिहाड़ में एंजॉय कर रहे निर्भया के दोषी, कोर्ट में भिड़े वकील

तेजी से बढ रही है चक्रवाती हवाएं, देश के 10 से ज्यादा राज्यों में दोबारा लौटेगी ठंड

बीजेपी की ओर से एक पदाधिकारी ने इस बात की पुष्टि की। पार्टी का ऑफिशल ट्वीटर अकाउंट 24 घंटे के लिए ब्लॉक कर दिया गया है। कर्नाटक बीजेपी के युवा मोर्चा के उपाध्यक्ष विनोद कृष्ण मूर्ति ने इसकी जानकारी दी। आपको बता दें कि बीजेपी कर्नाटक के ट्विटर हैंडल को मंगलवार को 24 घंटे के लिए बंद कर दिया गया था।

मूर्ति ने बताया कि हमारी टीम ने उदारवादी, वामपंथी और कांग्रेस को लेकर एक ट्वीट किया था। पिछले कुछ वर्षों से कांग्रेस की राज्य प्रशासन में भूमिका पर नजर रखी जा रही थी, जिस तरह से सीएए के खिलाफ एक इको सिस्टम काम कर रहा था, हम उसपर नजर बनाए हुए थे।

इसी को लेकर एक ट्वीट किया गया था। बीजेपी की कर्नाटक आईटी सेल ने पिछले कुछ दिनों में कई ट्वीट किए थे, जिसे ट्विटर ने हटा दिया। कर्नाटक भाजपा किसी के खिलाफ नहीं है, वह सच की बात करती है। कांग्रेस की विभाजनकारी नीति को लेकर हम बात करते हैं, कैसे इन लोगों ने आजादी के समय से अल्पसंख्यकों को दूर रखा।

पाबंदी के बाद कर्नाटक बीजेपी की ओर से एक ट्वीट करके लिखा गया कि प्यारे दोस्तों, यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि हमारे ट्विटर हैंडल को सच और उदारवाद पर बोलने की वजह से ब्लॉक कर दिया गया।
हम लोगों के सामने सच लाने की अपनी कोशिश से कतई पीछे नहीं हटेंगे। आपके सहयोग और उत्साहवर्धन के लिए बहुत बहुत शुक्रिया सत्यमेव जयते।

ये था ट्वीट में शामिल
बता दें कि 8 फरवरी को कर्नाटक भाजपा ने एक ट्वीट किया था, जिसमे वीडियो में कुछ महिलाएं जोकि बुर्का पहने हुए थी, वह हाथ में वोटर कार्ड लिए हुए थीं। ट्वीट में लिखा गया था कि, कागज नहीं दिखाएंगे… दस्तावेजों को सुरक्षित रखिए, एनपीआर में फिर जरूरत पड़ेगी।