नागपुर : रणजी चैम्पियन विदर्भ और शेष भारत के बीच मंगलवार से शुरू हुए ईरानी ट्रॉफी के पहले दिन विदर्भ की शानदार गेंदबाजी के बीच मयंक अग्रवाल (95) और हनुमा विहारी (114) की बेहतरीन पारियों की बदौलत पहले दिन पहली पारी में 330 रनों का सम्मानजनक स्‍कोर बनाया। दिन के आखिरी ओवर में अंकित राजपूत (25) के रूप में शेष भारत ने अपना आखिरी विकेट खोया और इसी के साथ दिन का खेल समाप्त करने की घोषणा कर दी गई।

शेष भारत ने टॉस जीतकर लिया पहले बल्‍लेबाजी का निर्णय
सुबह सिक्‍का शेष भारत के पक्ष में गिरा और उसने पहले बल्लेबाजी करने का निर्णय लिया। टीम को मयंक अग्रवाल और अनमोल प्रीत सिंह ने सधी हुई शुरुआत दी और पहले विकेट के लिए 46 रन बनाए। रजनीश गुरबानी ने अनमोल प्रीत को 15 के निजी स्कोर पर आउट कर विदर्भ को पहली सफलता दिलाई।
यहां से मयंक ने हनुमा विहारी के साथ मिलकर शानदार साझेदारी निभाई और दूसरे विकेट के लिए 126 रन जोड़ दिए। मयंक शतक के करीब थे कि नर्वस नाइंटीज के शिकार हो गए उन्‍हें 171 के कुल स्कोर पर यश ठाकुर ने पैवेलियन भेजा। मयंक ने अपनी पारी में 134 गेंदों का सामना किया और 10 चौकों के अलावा तीन छक्के मारे।

मयंक के आउट होते ही विकेटों की झड़ी लग गई
मयंक के जाने के बाद विदर्भ के गेंदबाज हावी हो गए। हालांकि विहारी एक छोर पर टिके रहे, लेकिन दूसरे छोर से आदित्य सरवाटे, अक्षय वघारे और अक्षय कारनेवार ने लगातार विकेट लेकर शेष भारत की पारी को झकझोर दिया। विहारी भी 305 के कुल स्कोर पर टीम के आठवें विकेट के रूप में आउट हो गए। उन्होंने अपनी शतकीय पारी में 211 गेंदों का सामना किया और 11 चौकों के अलावा दो छक्के मारे। इसी स्कोर पर राहुल चाहर भी पैवेलियन लौट लिए। अंत में अंकित राजपूत ने 21 गेंदों पर तीन चौके और एक सिक्‍स मार टीम के खाते में कुछ और रन जोड़े।
विदर्भ की ओर से सरवटे और वघारे ने तीन-तीन विकेट लिए। गुरबानी को दो सफलताएं मिलीं। यश और कारनेवार के हिस्से एक-एक सफलता आई।