नई दिल्ली। एक समय भारतीय टीम के स्टार गेंदबाज रहे एस श्रीसंत को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने बड़ा फैसला सुना दिया है। सुप्रीम कोर्ट ने श्रीसंत की याचिका पर फैसला सुनाते हुए आजीवन बैन को हटा दिया है। हालांकि सुप्रीम कोर्ट ने बीसीसीआई को तीन महीने का वक्त दिया है कि वो श्रीसंत के क्रिकेट खेलने पर फैसला ले। सुप्रीम कोर्ट का ये फैसला एस श्रीसंत के लिए राहत भरा है।

– IPL स्पॉट फिक्सिंग के मामले में आजीवन प्रतिबंध का सामना कर चुके श्रीसंत का करियर संघर्षपूर्ण रहा है। वो अपने करियर में हमेशा विवादों से घिरे रहे हैं। मैदान पर एंग्री मोड वाला ये खिलाड़ी उस वक्त डिप्रेशन में चला गया था, जब वो IPL स्पॉट फिक्सिंग में फंसे।

आत्महत्या की सोचने लगे थे श्रीसंत

स्पॉट फिक्सिंग के मामले में श्रीसंत जेल भी जा चुके हैं। ये वो समय था जब श्रीसंत अपनी जीवन के सबसे बुरे दौर से गुजर रहे थे, लेकिन इस मुश्किल घड़ी में श्रीसंत का पत्नी भुवनेश्वरी ने बखूबी साथ दिया। डिप्रेशन के इस समय में श्रीसंत आत्महत्या करना चाहते थे, लेकिन उनकी पत्नी ने उनका ध्यान रखा।

शादी ना करने का भी आया था विचार

जिस वक्त श्रीसंत को जेल हुई थी, उस वक्त उनकी पत्नी किचन में सोया करती थीं। वो अपने पति की तकलीफ को महसूस करना चाहती थीं। सितंबर 2013 में श्रीसंत पर स्पॉट फिक्सिंग मामले में आजीवन बैन लगाया गया था। उसी महीने उनकी भुवनेश्वरी से शादी होने वाली थी। मैच फिक्सिंग में फंसने के बाद श्रीसंत शादी भी नहीं करना चाहते थे।

इंटरव्यू में कही थी ये बातें

एक इंटरव्यू में श्रीसंत बता चुके हैं, ‘मैं उस समय अपनी जिंदगी खत्म करने के बारे में सोचने लगा था। मैंने उस समय अपने माता-पिता के बारे में भी सोचा। मुझे लगा कि उनके 3 और बच्चे हैं और मैं नहीं होऊंगा तो भी वो मेरे बगैर रह लेंगे। उस वक्त भुवनेश्वरी के पिता ने मुझे कहा था कि नयन (भुवनेश्वरी) अब भी तुमसे शादी करना चाहती है।’

बता दें कि श्रीसंत की पत्नी भुवनेश्वरी राजस्थान की रॉयल फैमिली से ताल्लुक रखती हैं। भुवनेश्वरी श्रीसंत से 9 साल छोटी हैं। दोनों ने शादी से पहले 6 साल तक एक- दूसरे को डेट किया था। साल 2015 में श्रीसंत एक बेटी के पिता बने। साल 2016 में इस कपल के एक बेटा भी हुआ।