नई दिल्ली : दिल्ली कैपिटल्स के लिए आईपीएल में खेलते हुए जबरदस्त प्रदर्शन करने वाले शिखर का रिकॉर्ड आईसीसी टूर्नामेंटों में हमेशा काफी शानदार रहा है। इसके बावजूद वह इस विश्व कप में बेहतर प्रदर्शन करने को लेकर दबाव नहीं है। वह अपने ऊपर से विश्व कप का दबाव हटाने के लिए इन दिनों अनोखा तरीका अपना रहे हैं। बांसुरी बजाना सीख रहे हैं और सूफी संगीत सुन रहे हैं।

वडाली ब्रदर्स हैं पसंदीदा गायक

शिखर धवन ने कहा कि उन्हें सूफी संगीत काफी पसंद है और उनके पसंदीदा गायक वडाली ब्रदर्स हैं। वह इन दिनों यही दो काम कर रहे हैं। सूफी संगीत सुन रहे हैं और बांसुरी बजाना सीख रहे हैं। तनाव से दूर रहने का उनका यह तरीका है। उन्होंने यह भी कहा कि उन्हें ही नहीं हर किसी को अपनी जिंदगी में एक शौक पाल लेना चाहिए।

सोशल मीडिया और अखबार से रहते हैं दूर

धवन ने कहा कि वह न तो टीवी देखते है और न ही अखबार पढ़ते हैं। इसके अलावा वह सोशल मीडिया से भी दूर रहते हैं। उन्होंने यह भी कहा कि हालांकि वे ट्विटर, इंस्टाग्राम और फेसबुक पर हैं, लेकिन इसका कम ही इस्तेमाल करते हैं। वह उनमें से नहीं है, जो लगातार इंस्टाग्राम और ट्विटर पर लगे रहते हैं। इस वजह से वह अपनी हो रही आलोचनाओं से भी दूर रहते हैं। उनकी जिंदगी में नकारात्मक बातों के लिए कोई जगह नहीं है और इसके लिए लोगों से बार-बार सर्टिफिकेट लेने की जरूरत नहीं है।

प्रक्रिया पर ध्यान देते हैं, परिणाम पर नहीं

धवन कहते हैं कि आईसीसी टूर्नामेंटों में उनके रिकार्ड के बारे में लोग बताते रहते हैं, लेकिन वह इससे न खुश होते हैं और न ही विचलित होते हैं। वह अपने प्रयासों में कोई कमी रखते। उनका ध्यान हमेशा प्रक्रिया पर रहता है। परिणाम पर नहीं। इस वजह से विश्व कप को लेकर उन पर कोई दबाव नहीं है। उन्हें यकीन है कि एक बार फिर आईसीसी टूर्नामेंट में उनका प्रदर्शन अच्छा रहेगा।

पोंटिंग और गांगुली की तारीफ की

शिखर धवन ने आईपीएल में दिल्ली कैपिटल्स के कोच रिकी पोंटिंग और सलाहकार सौरव गांगुली की जमकर तारीफ की। उन्होंने कहा कि उनकी मौजूदगी से दिल्ली टीम को फायदा पहुंचा। उन्होंने यह भी कहा कि पोंटिंग ओर दादा दोनों सफल अंतरराष्ट्रीय कप्तान हैं और दोनों ने चैम्पियन खिलाड़ी तैयार किए हैं। उनके अनुभव से मदद मिली। इन दोनों कहा कि शिखर तुम्हारी तकनीक में कोई दिक्कत नहीं है।