नई दिल्ली। इंग्लैंड के विकेटकीपर बल्लेबाज जोस बटलर ( Jose Butler ) के पास वो सबकुछ है, जो सीमित ओवर्स के फार्मेट में एक खिलाड़ी को सफल होने के लिए चाहिए। प्रथम श्रेणी क्रिकेट में उनके अच्छे खेल की बदौलत 2011 में भारत और विंडीज के खिलाफ घरेलू सीरीज में जोस बटलर ने टी-20 क्रिकेट में अपना डेब्यू किया। अपने दो शुरुआती मैचों में बटलर को बल्लेबाजी करने का मौका नहीं मिला। तीसरे टी-20 में जब उन्हें बल्लेबाजी का मौका मिला तो वह मात्र 13 रन ही बना सके।

पहले मैच में खाता नहीं खोल पाए थे बटलर
2012 में दुबई में पाकिस्तान के खिलाफ खेली गई सीरीज में बटलर ने वनडे क्रिकेट में पर्दापण किया। इस मैच में अजमल की बॉल पर बटलर खाता खोले बिना पैवेलियन लौट गए। जिसके बाद विकेटकीपर बल्लेबाज क्रेग कीजवेटर की जगह न्यूजीलैंड के खिलाफ टी-20 मैचों में जोस बटकर को चुना गया। बटलर ने मौके को भुनाते हुए टी-20 मैचों में अपना पहला अर्धशतक जमाया। इसके बाद 2013 इंग्लैंड में खेली गई चैंपियंस ट्रॉफी में जोस बटलर टीम का अहम हिस्सा रहे। उन्होंने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ घरेलू और विदेश में अच्छा प्रदर्शन किया।

2014 में लॉर्ड्स टेस्ट में भारत के खिलाफ डेब्यू किया

श्रीलंका के खिलाफ घरेलू सीरीज में जोस बटकर ने 61 गेंदों में शतक ठोंककर चयनकर्ताओं का ध्यान अपनी ओर खींचा। इसके साथ ही सबसे तेज शतक लगाने वाले वो इंग्लैंड के पहले बल्लेबाज बन गए। 2014 में लॉर्ड्स टेस्ट में भारत के खिलाफ इंग्लैंड की हार के बाद मैट प्रायर को टीम से बाहर का रास्ता दिखा दिया गया। और जोस बटलर को टेस्ट में डेब्यू करने का मौका मिला। बटलर ने अपने पहले टेस्ट में 85 रन की पारी खेलकर टेस्ट टीम में अपना स्थान पक्का कर लिया।

विश्व कप के सेमीफाइनल में गलत ऑउट दिए जाने के बाद जेसन राय ने अंपायर से की अभद्रता

Jose Butler

बटलर के करियर को आईपीएल ने दी अलग राह
इंग्लैंड अपने कम ही क्रिकेटरों को आईपीएल मे खेलने की अनुमति देता था। बाद में इंग्लैंड ने अपने रवैये को बदलते हुए 2016 में क्रिकेटरों में IPL में खेलने की अनुमति देना शुरू कर दिया। 2016 में सबसे पहले मुंबई इंडियंस की टीम ने अच्छी कीमत देकर जोस बटलर को अपनी टीम में शामिल किया। IPL-2016 और 2017 का सीजन बटलर के लिए खास नहीं रहा। 2018 में जोस बटलर को राजस्थान रॉयल्स ( Rajasthan Royals ) की टीम ने खरीदा। शुरुआत में मिडिल ओवर्स में खेलते हुए बटलर को परेशानियों का सामना करना पड़ा। बाद में राजस्थान रॉयल्स ने बटलर को ओपनिंग में भेजने का फैसला किया। ओपनिंग में बटलर का खेल निखरकर सामने आया और उन्होंने टूर्नामेंट में लगातार पांच अर्धशतक जमाये।

किसी एक विश्व कप में सर्वाधिक विकेट लेने वाले गेंदबाज बनें मिशेल स्टॉर्क

वनडे, टेस्ट, टी-20 में जोस बटलर का रिकार्ड
जोस बटलर ने 140 वनडे मैचों में 9 शतकों के साथ 3784 रन बनाए हैं। वहीं 31 टेस्ट में 1 शतक के साथ बटलर के 2876 रन हैं। बटलर ने 66 T-20 मैचों में 7 अर्धशतकों के साथ1260 रन जोड़े हैं। बटलर के IPL करियर की बात करें को 45 मैचों में 9 अर्धशतकों के साथ उन्होंने 919 रन बनाए हैं।