लंदन। विश्व कप 2019 के फाइनल में न्यूजीलैंड और इंग्लैंड की टीमें आमने-सामने हैं, जो टीम खिताब जीतेगी वो पहली बार विश्व चैंपियन बन इतिहास रच देगी। न्यूजीलैंड के लिए ये मौका खास है, क्योंकी न्यूजीलैंड लगातार दूसरी बार विश्व कप के फाइनल में पहुंची है। 2015 विश्व कप के फाइनल में न्यूजीलैंड का मुकाबल ऑस्ट्रेलिया से हुआ था। विश्व कप 2019 के फाइनल तक आने के लिए न्यूजीलैंड की टीम के खिलाड़ियों ने जितनी मेहनत की है, उतनी ही मेहनत टीम के कोच गैरी स्टीड ने भी की है। विश्व कप फाइनल के मैच से पहले गैरी स्टीड की स्टोरी बहुत वायरल हो रही है।

 

लॉर्ड्स के मैदान पर सफाई करते थे गैरी स्टीड

गैरी स्टीड के लिए ये उनकी जिंदगी का सबसे खास मौका है कि वो जिस टीम के कोच हैं वो टीम विश्व कप का फाइनल खेल रही है। दरअसल, न्यूजीलैंड क्रिकेट टीम के मुख्य कोच गैरी स्टीड का लंदन के लॉर्ड्स मैदान से गहरा नाता रहा है। इसी मैदान पर गैरी स्टीड 29 साल पहले सफाई कर्मचारी थे। वो इस मैदान पर पवेलियन की खिड़कियां साफ किया करते थे और आज उनकी टीम विश्व कप का फाइनल मैच खेल रही है। 29 साल पहले 1990 में वो इस मैदान पर खिड़कियां साफ करने के लिए उतरा करते थे, लेकिन आज वो अपनी टीम के साथ लॉर्ड्स के पवेलियन में फाइनल खेलने वाली टीम के मुख्य कोच की हैसियत के साथ उतरे हैं।

 

18 साल की उम्र में लॉर्ड्स ग्राउंड स्टाफ के मेंबर थे गैरी

एक इंटरव्यू के दौरान 47 साल के गैरी स्टीड ने अपनी इन यादों को खुद साझा किया है। उन्होंने बताया है कि जब वो 18 साल के थे तो लॉर्ड्स के मैदान के ग्राउंड स्टाफ के साथ काम करते थे। विश्व कप 2019 के फाइनल की पूर्व संध्या पर गैरी स्टीड ने एक इंटरव्यू दिया, जिसमें उन्होंने बताया है, ”मैं 1990 में लॉर्डस पर ग्राउंड स्टॉफ का काम किया करता था। यहां आपको कई काम करने पड़ते हैं और इन्हीं में से मेरा एक काम पवेलियन की खिड़कियां साफ करना था। हालांकि मुझे यह काम पसंद था क्योंकि मैं खुद को खुशकिस्मत मानता था कि मुझे लॉर्डस में काम करने का मौका मिला। मेरे लिए यहां काम करना एक खास अनुभव था।”

 

विलियमसन भी करते हैं कोच का सम्मान

न्यूजीलैंड के कप्तान केन विलियमसन कोच गैरी स्टीड का बहुत सम्मान करते हैं। इंटरव्यू के दौरान उन्होंने बताया है कि वह यहां विश्व कप की फाइनल टीम के कोच के रूप में आकर बहुत विशेष महसूस कर रहे हैं। उन्होंने कहा, मैं इस मैदान पर जब भी आता हूं तो मुझे काफी अच्छा लगता है। हमने यहां ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ भी लीग मैच खेला था, लेकिन अब हम यहां फाइनल खेलने जा रहे हैं और इस कारण यह यादगार लम्हा है। गैरी ने न्यूजीलैंड की ओर से 90 के दशक में सिर्फ पांच टेस्ट खेले और दो अर्धशतकों के साथ 278 रन बनाए।