नई दिल्ली : क्रुणाल पांड्या उन खिलाड़ियों में से एक हैं, जो भारतीय क्रिकेट टीम ( Indian cricket team ) के कप्तान विराट कोहली ( Virat Kohli ) के साथ टीम इंडिया में तो मुंबई इंडियंस की तरफ से आईपीएल में रोहित शर्मा ( Rohit Sharma ) की कप्तानी में खेल चुके हैं। इन दोनों की कप्तानी के बारे में बात करते हुए उन्होंने कहा कि कोई खास अंतर नजर नहीं आता। दोनों एक तरह से ही सोचते हैं।

दोनों कामयाब कप्तान हैं

क्रुणाल ने कहा कि दोनों ही बेहद कामयाब कप्‍तान हैं और अपनी टीम के साथ हमेशा खड़े रहते हैं। दोनों ही अच्‍छे लीडर की भूमिका में नजर आते हैं। उन्होंने कहा कि वह किसी भी टीम से खेलें उनकी कोशिश सौ फीसदी देने की रहती है।

इस दक्षिण अफ्रीकी ऑलराउंडर ने टी-20 क्रिकेट में किया कारनामा, एक ही पारी में ले लिए इतने विकेट

क्रुणाल को बल्लेबाजी पसंद है

क्रुणाल पांड्या की पसंद स्पिन आलराउंडर की है। यानी ऐसा स्पिन गेंदबाज, जो मौका पड़ने पर बल्लेबाजी भी कर लेता है, लेकिन वह कहते हैं कि उन्हें बल्लेबाजी करना ज्यादा पसंद करते हैं। उन्होंने कहा कि वह बल्ले और गेंद दोनों से बराबर अभ्यास करते हैं। उन्हें लगता है कि सभी विभाग में अच्छा कर टीम में योगदान देना चाहिए। उनके अनुसार, वह अगर ऐसा कर सकें तो टीम को मदद मिलेगी।

हार्दिक से कोई परेशानी नहीं

क्रुणाल ने कहा कि अपने छोटे भाई हार्दिक पांड्या के टीम में पहले स्थान बनाने से उन्हें कोई परेशानी नहीं है। उन्होंने कहा कि हार्दिक को जो मिला, वह उसका हकदार है। वह उसकी कड़ी मेहनत का नतीजा है। उन्होंने कहा कि हम दोनों दूसरे की कामयाबी का लुत्फ उठाते हैं। हम एक-दूसरे से अपनी तुलना नहीं करते, क्योंकि हमारा सफर अलग-अलग रहा है। एक-दूसरे को लेकर कोई असुरक्षा की भावना उन दोनों में नहीं है। उन्होंने कहा कि उन दोनों की सोच भी अलग है। हमारा ध्यान सिर्फ देश को गर्व करने का मौका देने पर है।

वीवीएस लक्ष्मण ने क्रुणाल पांड्या को बताया चतुर खिलाड़ी, वनडे टीम में शामिल करने की वकालत की

हार्दिक गलतियां स्वीकार कर खुद का सुधारता है

हार्दिक पांड्या के हाल में चैट शो विवाद पर उन्होंने कहा कि गलतियां सभी से हो जाती हैं, लेकिन हार्दिक की अच्छी बात यह है कि वह अपनी गलतियां स्वीकार कर उसे सुधारता है। कुछ लोग इसे नजरअंदाज करते हैं, लेकिन हार्दिक कभी ऐसा नहीं करता। उसने अपनी गलतियों से सीखकर मैदान पर वापसी की है। वह सिर्फ आईपीएल में ही नहीं, इसके बाद टीम इंडिया के लिए भी वह शानदार खेला है। उसका ध्यान देश के लिए बेहतर करने पर है।