दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ भी महेंद्र सिंह धोनी को मिल सकता है आराम, ये युवा टीम में हो सकते हैं शामिल

मुंबई : सितंबर महीने में दक्षिण अफ्रीका ( South Africa cricket team ) की टीम भारतीय दौरे पर आ रही है। इस दौरे पर उसे तीन टी-20 और इतने ही टेस्ट मैच की सीरीज खेलनी है। टी-20 सीरीज के लिए उम्मीद है कि चार सितंबर को भारतीय क्रिकेट टीम ( Indian cricket team ) की घोषणा की जाएगी। ज्यादा उम्मीद है कि चयन समिति विंडीज दौरे की तरह इस टीम में भी युवाओं को मौके देगी। इस कारण महेंद्र सिंह धोनी ( Mahendra Singh Dhoni ) को इस सीरीज से भी आराम दिया जा सकता है।

युवा खिलाड़ियों को मैच अनुभव दिलाना चाहेगी चयन समिति

इस बात की पूरी संभावना है कि वेस्ट इंडीज दौरे पर खेली टीम इंडिया की टी-20 टीम के अधिकतर सदस्य को बरकरार रखा जाएगा। इसकी वजह यह है कि 2020 में ऑस्ट्रेलिया में टी-20 विश्व कप आयोजित होना है और चयन समिति चाहेगी कि उस वक्त तक इन युवा खिलाड़ियों को कुछ मैचों का अनुभव हासिल हो जाए। बता दें कि विश्व कप से पहले टीम इंडिया को सिर्फ 22 टी-20 मैच खेलने हैं। इसलिए यह बेहद जरूरी है कि विश्व कप में जो खिलाड़ी चुनकर जाएं, उनके पास मैच अनुभव हो।

आईसीसी ने एक बार फिर बनाया सचिन तेंदुलकर का मजाक, प्रशंसकों ने दिया करारा जवाब

आलराउंडर्स पर होगा ध्यान

टी-20 विश्व कप के मद्देनजर टीम इंडिया का ध्यान आलराउंडर्स पर होगा। इसलिए उम्मीद है कि हार्दिक पांड्या की वापसी होगी। इनके अलावा जो गेंदबाज गेंदबाजी के अलावा बल्लेबाजी करने में भी सक्षम हैं, उन्हें टीम में मौका दिया जाएगा। इस लिहाज से क्रुणाल पांड्या, वाशिंगटन सुंदर, रविंद्र जडेजा और दीपक चाहर के टीम में बने रहने की उम्मीद है। इसके अलावा अपनी तूफानी गेंदबाजी से विंडीज दौरे पर प्रभावित करने वाले नवदीप सैनी के खेलने की भी उम्मीद है।

विकेटकीपर बल्लेबाज का पूल तैयार करने पर रहेगा ध्यान

चयनकर्ता यह भी चाहेंगे कि महेंद्र सिंह धोनी का उत्तराधिकारी विश्व कप से पहले तैयार कर लिया जाए। इसलिए वह इस सीरीज में धोनी को आराम देकर ऋषभ पंत को बतौर मुख्य विकेट कीपर मौका देना जारी रख सकते हैं। इसके अलावा वह दूसरे विकेट कीपर को भी तैयार करना चाहेंगे। इसके मद्देनजर ईशान किशन और संजू सैमसन में से किसी एक को या फिर दोनों को मौका दे सकते हैं। ईशान किशन और संजू सैमसन की बल्लेबाजी भी पंत जैसी है, इसलिए इन्हें टीम में शामिल कर सकते हैं। हालांकि पंत सभी प्रारूपों में पहली पसंद बने रहेंगे। यह इसलिए भी जरूरी है, क्योंकि ऋषभ पंत तीनों फॉर्मेट में खेलते हैं तो चयनकर्ता उनके कार्यभार प्रबंधन का भी ध्यान जरूर रखेंगे।

विंडीज के खौफनाक गेंदबाज भी हुए जसप्रीत बुमराह के प्रशंसक, कहा- विंडीज की किसी भी टीम में खेल सकते थे

बल्लेबाजी में लगभग विंडीज दौरे वाली टीम ही रहेगी

बल्लेबाजी में करीब-करीब वही टीम रहेगी, जिन्हें विंडीज दौरे पर मौका दिया गया था। रोहित शर्मा, शिखर धवन, केएल राहुल, विराट कोहली के अलावा संभव है कि विंडीज दौरे पर एकदिवसीय टीम में अपनी बल्लेबाजी से प्रभावित करने वाले श्रेयस अय्यर को इस टीम में मौका मिले।

15 सितंबर से शुरू होगा टी-20 सीरीज

दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ 15 सितंबर से धर्मशाला में तीन मैचों की टी-20 घरेलू सीरीज का आगाज होगा। इसके अलावा दो अन्य मैच 18 सितंबर को मोहाली में और 22 सितंबर को बेंगलूरु में खेले जाने हैं।