'गुरु' धोनी रह गए 'गुड़' और 'चेला' विराट बनने जा रहा है 'शक्कर'

नई दिल्ली। वेस्टइंडीज के खिलाफ दो टेस्ट मैचों की सीरीज का दूसरा मैच शुक्रवार से शुरू होगा। यह मैच भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली के लिए खासा यादगार और महत्वपूर्ण रहने वाला है।

विराट इस मैच को अगर जीत लेते हैं तो वे भारतीय टेस्ट क्रिकेट इतिहास के सबसे सफल कप्तान बन जाएंगे। विराट कोहली अपनी कप्तानी में अब तक भारतीय टीम को 27 टेस्ट मैचों में जीत दिलवा चुके हैं।

यह भी पढ़ेंः अर्जुन तेंदुलकर को मिला बड़ा मौका, क्या कर पाएंगे पिता सचिन की बराबरी?

भारत के लिए इतने ही मैच महेंद्र सिंह धोनी ने भी जीते हैं। अब अगर विराट अपनी कप्तानी में भारत को वेस्टइंडीज के खिलाफ जीत दिलवा देते हैं तो वे 28 टेस्ट जीत के साथ भारत के सबसे सफल टेस्ट कप्तान बन जाएंगे।

धोनी और कोहली की कप्तानी में क्या है फर्क

टेस्ट मैचों में महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी जीत का प्रतिशत 45 का है, वहीं विराट कोहली 55.31 के दमदार प्रतिशत के साथ उनसे काफी आगे हैं।

इसके अलावा धोनी ने 27 मैचों में टीम को जीत दिलाई तो वहीं 18 मैचों में उन्हें हार का सामना करना पड़ा। 15 मैच ड्रॉ पर समाप्त हुए।

यह भी पढ़ेंः

इन चार गेंदों ने बना दिया बुमराह को सबसे महान भारतीय गेंदबाज, कपिल देव और जहीर खान भी छूट गए पीछे

वहीं विराट कोहली 47 मैचों में टीम की कप्तानी करते हुए 27 में टीम को जीत दिला चुके हैं। 10 मैचों में उन्हें हार का मुंह देखना पड़ा तो वहीं 10 मैच ड्रॉ पर समाप्त हुए।

इससे पूर्व भारत ने वेस्टइंडीज को एंटीगा में खेले गए सीरीज के पहले मैच में 318 रनों के विशाल अंतर से हराया था। भारतीय क्रिकेट टीम सीरीज में 1-0 आगे है और सीरीज 2-0 से क्लीन स्वीप करना चाहेगी।